Monday, October 18, 2021 04:55 PM

रिमझिम बारिश ने फिर बढ़ाई किसानों की दिक्कत

पानी से भरे मक्की के खेत; तूफान से लेटी फसल पर मंडरा रहा खराब होने का खतरा

टीम—हमीरपुर, बड़सर हमीरपुर जिला में गुरुवार अलसुबह शुरू हुई रिमझिम बारिश ने किसानों की दिक्कतें बढ़ा दी हैं। खेतों में तूफान से लेटी मक्की की फसल बारिश से लगातार खराब हो रही है। क्योंकि इस समय मक्की को बारिश की बजाय धूप की ज्यादा जरूरत है। अधिकतर किसानों की फसलें पक कर तैयार हो चुकी हैं। किसान हर दिन यही उम्मीद लगाए बैठा है कि जैसे ही मौसम साफ हो, तो मक्की की कटाई का कार्य शुरू किया जा सके। हालांकि अधिकतर किसानों ने मक्की की कटाई करके मक्की के ग_े खेतों में फेंक रखे थे, वे भी बारिश से खराब हो रहे हैं। अगर बारिश का क्रम आने वाले दिनों में भी ऐसे ही जारी रहा, तो किसानों को इस बार कुछ भी हाथ नहीं लगेगा।

बारिश को देखकर कई किसानों ने खड़ी मक्की की फसल से फसल खोलकर घरों में रख ली है, ताकि कुछ हद तक नुकसान की भरपाई की जा सके। यही कारण है कि किसान हर वर्ष खेतीबाड़ी छोड़ रहा है। उन्हें हर वर्ष मक्की बिजाई का 50 फीसदी हिस्सा भी नहीं मिल पा रहा है। किसान दिन-रात जंगली जानवरों से फसलों को बचा रहा है, लेकिन मौसम की बेरुखी किसानों की हिम्मत हर वर्ष धराशाही कर रहा है। अगर ये बारिश एक माह पहले होती, तो मक्की फसल को इसका लाभ पहुंचता। किसान भी बेमौसमी बारिश से अब तंग आ चुके हैं और यही फरियाद कर रहे हैं कि जल्द से जल्द बारिश का यह क्रम थमे और फसल कटाई का कार्य दोबारा शुरू हो सके। मक्की की फसल को इस समय बारिश की जरूरत नहीं है। बारिश फसल को खराब कर रही है। जिन किसानों के खेतों में पानी खड़ा हो गया है, वे पानी को निकालने के लिए निकासी नाली का प्रयोग करें, ताकि खेतों में लेटी फसल खराब होने से समय पर बचाई जा सके डा. पीसी सैणी उपनिदेशक, कृषि विभाग हमीरपुर