Tuesday, April 13, 2021 10:08 AM

ईएसएल ने बोकारो में स्थापित की तीरंदाजी अकादमी, झारखंड को खेल नक्शे पर लानी की तैयारी

प्रो कबड्डी के तर्ज पर कोर्फबाल लीग की है तैयारी

कार्यालय संवाददाता — मंडी

अखिल भारतीय कोर्फबाल संघ की बैठक कारोना महामारी के बाद पहली बार दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष हिमांशु मिश्रा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस दौरान राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न कमेटियों के गठन पर चर्चा की गई, जिसमें हिमाचल प्रदेश के महासचिव बीआर सुमन को रैफरी बोर्ड की चेयरमैन नियुक्ति किया। इस दौरान सर्वप्रथम हिमाचल प्रदेश कोर्फबाल संघ की ओर से समस्त राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों को हिमाचली टोपी पहनाकर सम्मानित किया गया। करीब तीन घंटे चली बैठक में कोर्फबाल खेल को शहर से लेकर ग्रामीण स्तर तक लोकप्रिय बनाने के लिए निर्णय लिया गया।

 बैठक में प्रो-कबड्डी खेल की तर्ज पर कोर्फबाल लीग मैच करवाने का निर्णय लिया गया। प्रो-कबड्डी की तर्ज पर कोर्फबाल खेल के लीग मैच होंगे, ताकि देशभर के खिलाडि़यों की प्रतिस्पर्धाएं आयोजित जा सके। हिमाचल प्रदेश कोर्फबाल संघ के महासचिव एवं रैफरी बोर्ड के चेयरमैन बीआर सुमन ने बताया कि दो अप्रैल को हरियाणा राज्य के पलवल में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी। इसके समस्त राज्यों के महासचिव भी भाग लेंगे।

एजेंसियां — अहमदाबाद

टेस्ट इतिहास में कोई टेस्ट इतना महत्वपूर्ण साबित नहीं हुआ होगा जितना भारत और इंग्लैंड के बीच गुरुवार से यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में शुरू होने वाला चौथा और अंतिम स्टेडियम बन गया है, जिस पर आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल की दूसरी टीम का भविष्ष्य टिका हुआ है। भारत को फाइनल में जाने के लिए इस टेस्ट में जीत या ड्रा की जरूरत है, जबकि फाइनल की होड़ से बाहर हो चुके इंग्लैंड ने यदि यह टेस्ट जीता, तो सीरीज के ड्रा होने के कारण भारत बाहर हो जाएगा और ऑस्ट्रेलिया भाग्य के भरोसे फाइनल में पहुंच जाएगा। फाइनल इस साल जून में इंग्लैंड के ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर होना है और न्यूज़ीलैंड की टीम पहले ही फाइनल में पहुंच चुकी है, जबकि फाइनल की दूसरी टीम का फैसला होना बाकी है।

 अहमदाबाद में खेला गया तीसरा टेस्ट मात्र दो दिन में ही समाप्त हो गया था, जिसे भारत ने 10 विकेट से  जीता  था। इंग्लैंड की टीम ने भारतीय स्पिनरों के सामने घुटने टेक दिए थे और दोनों परियों में उसने 112 और 81 रन बनाए थे। लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ने तीसरे दिन रात्रि टेस्ट में 11 और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने सात विकेट लेकर अंग्रेजों को दो दिन में जमीन सूंघने पर मजबूर कर दिया था। चेन्नई में दूसरे टेस्ट में भी स्पिनरों का बोलबाला रहा था और भारत ने दूसरा  टेस्ट 317 रन के रिकॉर्ड अंतर से जीता था। चौथे टेस्ट में भी दोनों टीमों की परीक्षा स्पिन ट्रैक से ही होगी, जिसके लिए दोनों टीमें पूरी तैयारी कर चुकी होंगी।

चौथे टेस्ट के लिए संभावित प्लेइंग-11

गिल/मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्या रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर/कुलदीप यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज

डॉमनिक सिबली, जैक क्राउली, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट (कप्तान), ऑली पोप, बेन स्टोक्स, बेन फोक्स (विकेटकीपर), डॉम बेस, जैक लीच, जोफ्रा आर्चर, जेम्स एंडरसन

न्यूजीलैंड में हम तीन दिन में हारे, तब क्यों नहीं बोले

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पिच पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हम तीन दिन में टेस्ट हार गए थे। तब किसी ने कुछ नहीं बोला था। लोग कह रहे थे हमारे बल्लेबाजों ने बेकार खेला और अब पिच पर सवाल उठा रहे हैं। कोहली ने कहा कि मुझे नहीं पता कि लोग बॉल और पिच पर इतना फोकस क्यों कर रहे हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि टीम जीत के लिए मैदान पर आती है या पांच दिन खेलने के लिए? कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रहे चौथे और आखिरी टेस्ट से प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि हम जीतने के लिए आते हैं। हम इसलिए नहीं आते कि हर एक बल्लेबाज रन बनाए। हमारी जीत से फैंस को खुशी मिलती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैच कितने दिन में खत्म हो रहा है। वहीं, कोहली ने कहा कि कुलदीप यादव फिलहाल अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं, लेकिन सही कॉम्बिनेशन की वजह से हम उन्हें टीम में शामिल नहीं कर पा रहे हैं। वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल को फिलहाल इंटरेनशनल टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा अनुभव नहीं है। इसलिए हम एक्स्ट्रा बैटिंग ऑप्शन की तलाश में हैं।

एजेंसियां — नई दिल्ली

साउथ अफ्रीका के दिग्गज तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की आलोचना करने के लिए बुधवार को माफी मांगते हुए कहा कि उनका दुनिया के सबसे बड़े फ्रेंचाइजी आधारित टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट को ‘नीचा दिखाने या अपमान करने’ का कोई इरादा नहीं था। स्टेन ने कहा कि उनके इस बयान को सोशल मीडिया पर बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया कि आईपीएल में पैसों की बात के बीच कई बार क्रिकेट को भुला दिया जाता है। स्टेन ने ट्वीट किया कि मेरे करियर में आईपीएल शानदार रहा, अन्य खिलाडि़यों के लिए भी। मेरा इरादा कभी इसे नीचा दिखाने, अपमान करने या किसी अन्य लीग से तुलना करने का नहीं था। उन्होंने कहा कि अगर मैंने इससे किसी को निराश किया है, तो इसके लिए माफी मांगता हूं।

एजेंसियां — आबुधाबी

जिम्बाब्वे ने बुधवार को अफगानिस्तान के खिलाफ पहला टेस्ट 10 विकेट से अपने नाम कर लिया। आबुधाबी के शेख जाएद स्टेडियम में खेला गया यह मैच दो दिन में ही समाप्त हो गया। इस जीत के साथ जिम्बाब्वे ने दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। पहले टेस्ट में अफगानिस्तान की टीम जिम्बाब्वे के गेंदबाजों के बेबस नजर आई। अफगानिस्तान के बल्लेबाज किसी भी पारी में 150  का आंकड़ा पार नहीं कर सके। जिम्बाब्वे की ओर से ब्लेसिंग मुजरबानी विक्टर न्याओची ने शानदार गेंदबाजी की। दोनों ने मैच में छह-छह विकेट अपने खाते में डाले।

 मैच के दूसरे दिन जिम्बाब्वे ने पहली पारी में 5 विकेट पर 133 रन से आगे खेलना शुरू किया और पूरी टीम 250 रन पर सिमट गई। कप्तान सीन विलियम्स ने 105 रन बनाए। इससे पहले अफगानिस्तान ने पहली पारी में 131 रन बनाए थे। इस तरह से जिम्बाब्वे को 119 रन की बढ़त मिली। जवाब में अफगानिस्तान की टीम दूसरी पारी में 135 रन पर सिमट गई। जिम्बाब्वे को 17 रन का लक्ष्य मिला, जिसे जिम्बाब्वे ने 3.2 ओवर में बिना विकेट के हासिल कर लिया।

132 साल बाद कारनामा

जिम्बाब्वे के यह मैच जीतते ही टेस्ट इतिहास में एक अनोखा कारनामा दर्ज हो गया है। 131 साल बाद पहली बार ऐसा हुआ है, जब लगातार दो टेस्ट मैच दो के भीतर ही खत्म हो गए। जिम्बाब्वे से पहले हाल ही में भारत का इंग्लैंड के खिलाफ तीसरा टेस्ट दो दिन में समाप्त हो गया था। जिम्बाब्वे का टेस्ट मैच नंबर 2413 था, जबकि भारत का टेस्ट मैच नंबर 2412 था। इससे पहले 1889 में लगातार दो टेस्ट मैच दो दिन में पूरे हुए थे, जिनके मैच नंबर 31 और 32 थे।

एजेंसियां — वेलिंगटन

स्टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल (70) की आतिशी पारी और लेफ्ट आर्म स्पिनर एश्टन एगर (6/30) के घातक  प्रदर्शन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को यहां बुधवार को तीसरे टी-20 मुकाबले में 64 रन से हरा कर शानदार जीत दर्ज की। इस हार के बावजूद न्यूजीलैंड के पास पांच मैचों की इस श्रृंखला में 2-1 की बढ़त है। दर्शकों की गैर मौजूदगी में हुए इस मैच में आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मैक्सवेल के आतिशी अर्द्धशतक की बदौलत 20 ओवर में चार विकेट 204 रन का मजबूत स्कोर बनाया, जबकि न्यूजीलैंड की टीम 17.1 ओवर में 144 रन पर ही ऑलआउट हो गई। आस्ट्रेलिया की जीत के हीरो रहे मैक्सवेल ने न्यूजीलैंड के गेंदबाजों की दिशा और दशा दोनों बिगाड़ते हुए 225.81 के स्ट्राइक रेट से  पारी में आठ चौकों और पांच छक्कों की मदद से मात्र 31 गेंदों पर 70 रन की आ तिशी पारी खेली।

 गेंदबाजी के मोर्चे पर लेफ्ट आर्म स्पिनर एगर ने अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को चारों खाने चित कर दिया। उन्होंने अपने चार ओवर के स्पेल में 30 रन देकर छह विकेट चटकाए, जबकि रिले मेरेदिथ को दो और एडम जंपा और केन रिचर्डसन को एक-एक विकेट मिला। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कप्तान आरोन फिंच और जॉश फिलिप का प्रदर्शन भी बेहतरीन रहा। जहां फिंच ने आठ चौकों और दो छक्कों की बदौलत 44 गेंदों पर 69 रन बनाकर शानदार अर्द्धशतकीय पारी खेली। वहीं फिलिप ने तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 27 गेंदों पर ताबड़तोड़ 43 रन बनाए।

अहमदाबाद — इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट ने कहा है कि अहमदाबाद की पिच पर भारत के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में जीत उनकी टीम के लिए एक अभूतपूर्व उपलब्धि होगी। अगर उनकी टीम श्रृंखला को 2-2 से ड्रॉ करवाने में कामयाब होती है तो यह बहुत बड़ी उपलब्धि होगी, क्योंकि भारत का घरेलू मैदानों पर टेस्ट रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है।

रुट ने चौथे टेस्ट की पूरसंध्या पर बुधवार को वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आप हाल के दिनों में घरेलू मैदानों पर भारत के रिकॉर्ड को देखें तो यह अविश्वसनीय हैं, इसलिए हमारे लिए खासतौर पर पिछले दो मैचों में हार के बाद वापसी करते हुए एक ड्रॉ श्रृंखला के साथ स्वदेश लौटना एक अच्छी उपलब्धि होगी। हमारे पास दो चुनौतीपूर्ण सप्ताह हैं, लेकिन यह हमें एक टीम के रूप में परिभाषित नहीं करते।

हमें इन्हें कुछ विशेष करने के लिए एक अवसर के रूप में देखना होगा। दो मैचों में जीत के लिए खिलाडिय़ों के प्रयास को हमेशा याद रखा जाएगा। रुट ने टीम में खिलाडिय़ों चयन को लेकर कहा कि हम खिलाडिय़ों के चयन के संदर्भ में विकल्प खुले रख रहे हैं। उन्होंने संकेत दिया कि चौथे टेस्ट में ऑफ स्पिनर डोम बेस टीम में वापसी कर सकते हैं।

इंग्लैंड ने यह भी स्वीकार किया है कि पिछले टेस्ट में चार तेज गेंदबाजों और केवल एक विशेषज्ञ स्पिनर के साथ उतरना इंग्लैंड की सबसे बड़ी गलती थी। अंतिम टेस्ट में भी पिच पहले जैसी रहने के मुताबिक बेस स्पिन आक्रमण के साथ खतरनाक साबित हो सकते हैं।

नई दिल्ली — झारखंड राज्य को भारत के खेल के नक्शे पर लाने और स्थानीय प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने की कोशिश में इस्पात क्षेत्र की एक प्रमुख राष्ट्रीय कंपनी, वेदांत ईएसएल स्टील लिमिटेड ने बोकारो के पास सियालजोरी गांव में एक आर्चरी अकादमी की स्थापना की है। यह झारखंड में कंपनी के इस्पात निर्माण प्लांट के पास है। झारखंड परंपरागत रूप से तीरंदाजी के क्षेत्र में रहा है।

राष्ट्रीय स्तर के कुछ तीरंदाजों के अलावा कुछ उभरते तीरंदाज भी इस राज्य के हैं। वैसे भी, राष्ट्रीय स्तर पर यह राज्य खेलकूद के मामले में आगे रहा है। ईएसल स्टील आर्चरी अकादमी से उम्मीद की जाती है कि यह राज्य में इस खेल को खूब प्रोत्साहन देगी तथा राज्य में अच्छी प्रतिभा के विकास में सहायता करेगी। तीरंदाजी के खेल में भारत की स्थिति वैसे भी बेहतर है और यहां विश्व स्तर के तीरंदाज तैयार होते रहे हैं।

इनमें से ज्यादातर झारखंड राज्य के रहे हैं। इनमें दीपिका कुमारी, कोमालिका बारी और पूर्णिमा महतो उल्लेखनीय हैं। इन्हें वैश्विक स्तर पर देश के लिए प्रशंसा हासिल हुई है। ईएसएल स्टील की आर्चरी अकादमी नई प्रतिभा का विकास करना चाहती है जो न सिर्फ इस खेल में राज्य का प्रतिनिधित्व करे बल्कि अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भी देश का प्रतिनिधित्व भी करे।

ईएसएल स्टील की आर्चरी अकादमी अपने किस्म की अनूठी है जो विभिन्न सेवाओं जैसे रहने की जगह, भोजन और जिम्नाजियम से युक्त है। अकादमी अपने छात्रों को यूनिफॉर्म और चिकित्सा सुविधा मुहैया कराती है। तीरंदाजी के प्रत्येक छात्र को विशेषज्ञों के संरक्षण में प्रशिक्षण दिया जाता है। ऐसे में बोकारो के युवाओं और बच्चों के लिए पास ही में सबसे अच्छी अकादमी है जो तीरंदाजी के उनके कौशल को निखार सकती है और भविष्य में वे चमकते सितारे हो सकते हैं।