Saturday, October 24, 2020 08:40 AM

भाखड़ा डैम में डाला मछली बीज, विभाग की योजना, जलाशयों में डाला जाएगा 1.05 करोड़ बीज

राज्य के छोटे बड़े सभी जलाशयों में इस बार 1.05 करोड़ मछली बीज डाला जाएगा। बीज डालने के लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, जिसके तहत गुरुवार को भाखड़ा में मछली बीज डाला गया। खास बात यह है कि विभाग 70 से 100 एमएम आकार का बीज डाल रहा है जिससे जलाशयों में मछली की पैदावार में बढ़ोतरी होगी। इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आने लगे हैं जिसके तहत गोबिंदसागर में पिछले साल की तुलना में इस बार 12 मीट्रिक टन मछली पैदावार दर्ज की गई है। मत्स्य निदेशक सतपाल मेहता ने बताया कि विभाग ने मछली बीज डालने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और मत्स्यपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर द्वारा यह शुरुआत हुई है। इस कड़ी में गुरुवार को भाखड़ा में को-ऑपरेटिव सोसायटी, निदेशालय स्तर पर बनी कमेटी और लोकल बॉडी के सदस्यों की देखरेख में मछली बीज डाला गया।

उन्होंने बताया कि गोबिंदसागर में इस बार 40 लाख रुपए कीमत का मछली बीज डाला जा रहा है, जिसमें सिल्वर कार्प के साथ ही रोहू, मृगल व कतला प्रजाति की मछली का बीज शामिल है, जबकि पौंगडैम में 32 लाख रूपए कीमत का मछली बीज डाला जा रहा है। कोलडैम में 12 लाख कीमत तथा चमेरा में चार लाख रुपए कीमत का मछली बीज डाला जा रहा है।  सतपाल मेहता के अनुसार सिरमौर जिला में भी मत्स्य उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इसके तहत पांवटा साहिब में एक करोड़ के करीब लागत से मत्स्य फार्म का निर्माण किया जा रहा है।

The post भाखड़ा डैम में डाला मछली बीज, विभाग की योजना, जलाशयों में डाला जाएगा 1.05 करोड़ बीज appeared first on Divya Himachal.