Friday, September 24, 2021 06:54 AM

कभी न भूलने वाले जख्म दे गई बाढ़

आनी में बादल फटने से लाखों का नुकसान, रात को घरों से भाग कर बचाई लोगों ने जान

छविंद्र शर्मा — आनी शनिवार प्रात: आनी विकास खंड की बुछैर पंचायत के खादवी गांव में एकाएक बादल फटने से आई बाढ़ स्थानीय ग्रामीणों को गहरे जख्म दे गई। अपने घरों में सुकून की नींद में सो रहे खादवी से लेकर खान गांव के लोगों को शनिवार प्रात: करीब तीन बजे जब जोर की आवाज और लोगों के चिल्लाने की आवाजें सुनाई दीं तो ग्रामीण जैसे ही घरों से बाहर निकले तो घुप अंघेरे में बाढ़ का मंजर देखकर वे सहम उठे और स्वयं तथा अपने परिवार को बाढ़ से खतरे से बचाव को सुरक्षित स्थानों की ओर भागे। हालांकि रात में तबाही का कुछ भी पता नहीं चला। मगर भोर होते ही बाहर का मंजर बेहद खौफनाक था। पप्पू ठाकुर ने बताया कि क्षेत्र में इस तरह की प्राकृतिक त्रासदी पहली बार हुई है, जिसने ग्रामीणों को गहरे जख्म दे डाले। खादवी गांव के राकेश व राजेश ने बताया कि उन्होंने रोजमर्रा की तरह अपने निजी वाहन घर के साथ सड़क में खड़े किए थे। शनिवार सुबह जब बादल फटने की घटना का पता चला तो उनके वाहन बाढ़ की चपेट मे आकर बह चुके थे, जो पूरी तरह नष्ट हो चुके थे।

गांव के जिया लाल व जय सिंह ने बताया कि बाढ़ ने उनके सेब के फलदार पौधे और खेत पूरी तरह तबाह कर डाले, जिससे उन्हें लाखों की क्षति पहुंची है। स्थानीय पंचायत की प्रधान चंद्रा ठाकुर व पंचायत समिति सदस्य रंजना ठाकुर ने क्षेत्र में बादल फटने की घटना से हुई भारी क्षति पर गहरा दुख प्रकट किया है और प्रभावित लोगों के प्रति अपनी पूरी संवेदना प्रकट करते हुए सरकार से उनकी क्षतिपूर्ति के लिए जल्द उचित मुआवजा देने की मांग उठाई है। बादल फटने से हुए गांव को नुकसान के बाद से यहां लोगों की अब रातों की नींद भी उड़ गई है, जिन आठ घरों को खतरा बना हुआ है, वे भी सुबह का मंजर देखने के बाद सहम उठे हैं। हालांकि इस घटना में किसी जानीमाल का नुकसान नहीं हुआ है। रात के समय में हो रही बारिश के कारण से यहां लोग अब डरने भी लगे हैं। रात के समय में जिस तरह से नदी-नालों का पानी बढ़ रहा है। इससे लोगों को खतरा बना हुआ है। (एचडीएम)