Sunday, December 06, 2020 04:41 AM

गाडिय़ों के लिए क्रेजी है हिमाचल, पिछले साल की बिक्री  का टारगेट यूं होगा पूरा

टेकचंद वर्मा, शिमला
हिमाचल प्रदेश में नौ माह के दौरान 85 हजार से अधिक वाहनों की बिक्री हुई है। वाहनों की बिक्री का आंकड़ा बीते साल के मुकाबले कम आंका जा रहा है। बीते साल 2019 के दौरान नौ माह के दौरान प्रदेश में 93 हजार से अधिक वाहनों की बिक्री हो चुकी थी। वाहनों की कम खरीद-फरोख्त के पीछे लॉकडाउन कारण माना जा रहा है। प्रदेश में बीते साल जनवरी से सितंबर के दौरान 93 हजार 536 वाहनों की बिक्री हुई थी।

मगर इस साल के दौरान 85 हजार 543 वाहन ही बिके है। इस साल नौ माह के दौरान सबसे ज्यादा मोटर कार की बिक्री हुई है। प्रदेश में 30 हजार 400 कारों की बिक्री हुई है। इसके अलावा 42 हजार 484 मोटर साईकिल व स्कूटर बिके है। वहीं 1897 कृषि ट्रैक्टर, 125 रोगी वाहन, 289 बसें, 500 निर्माण वाहन, 8 टंपर, शिक्षा संस्थान बस 106, फायर टेडर एक, मैक्सी कैब 285, 1791 मोपिड, 1421 मोटर कैब, 28 ओमनी बस, तीन मोबाईल बैन, सात रिकवरी वैन और 156 थ्री व्हीलर पैसेंजर वाहन बिकें है, जबकि बीते साल के दौरान नौ माह में 33 हजार 566 मोटर कारों की बिक्री हुई थी।

44 हजार 744 मोटर साइकिल-स्कूटर बिकें है। इसके अलावा 1261 कृषि टै्रक्टर, 377 बसें बिकी थी। गुडस कैरियर वाहन सात हजार 398 बिकें थे। इस साल वाहनों की कम बिक्र ी के पीछे प्रदेश में लॉकडाउन कारण माना जा रहा है। हालांकि कोविड के दौरान प्रदेश में वाहनों की बिक्री हुई है। मगर राज्य में उतने वाहन नहीं बिक पाए है। जितने वाहनों की बिक्री पूर्व में सामान्य दिनों के दौरान होती थी। मौजूदा दिनों में नवरात्र चल रहे है। नवरात्र के दौरान वाहनों की खरीद-फरोख्त का बाजार गर्म है। नवरात्र के दौरान प्रदेश में काफी वाहनों की बिक्री होने की उम्मीदें लगाई जा रही है, वहीं धनतेरस व दिवाली के दौरान भी लोग वाहनों की खरीद फरोख्त करते है। ऐसे में उक्त आंकड़ों में ओर उछाल आने की संभावना जताई जा रही है।

The post गाडिय़ों के लिए क्रेजी है हिमाचल, पिछले साल की बिक्री  का टारगेट यूं होगा पूरा appeared first on Divya Himachal.