Monday, November 30, 2020 04:06 AM

गीत-संगीत से भगाया जा रहा कोरोना का खौफ, केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन में प्रशासन की अनूठी पहल

बीमारी का डर दूर करने के लिए रेडियो के माध्यम से चलाए जा रहे भजन, समय-समय पर धुलाए जा रहे हाथ

हिमाचल प्रदेश की सबसे बड़ी जेलों में दूसरे स्थान पर शुमार केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन में कोरोना के हमले से निपटने के लिए जेल प्रशासन हरकत में आ गया है। कारागार में विभिन्न अपराधों में सजा काट रहे कैदियों को अपराध के साथ-साथ कोरोना के तनाव से मुक्ति के लिए जहां जेल में रेडियो कारा जंक्शन के माध्यम से प्रत्येक बैरक व सैल को संगीत व भजन के माध्यम से तनाव मुक्त किया जा रहा है, तो वहीं कारागार में करीब 60 लोगों को आइसोलेशन में रखने की दिशा में कारागार द्वारा आइसोलेटेड हॉल व एक ब्लॉक की व्यवस्था की गई है, जिसमें 60 लोगों को आइसोलेशन में रखने की सुविधा है।

 केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन में करीब 84 लोग कोरोना से संक्रमित आ चुके हैं। इनमें से 21 लोग ऐसे हैं, जो  पॉजिटिव से अब नेगेटिव हो चुके हैं। इसके अलावा कारागार में जो कोरोना पॉजिटिव के 53 मामले शेष बचे हैं, उनमें नौ लोगों को कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया है, जबकि 44 कोरोना पॉजिटिव लोग अभी भी कारागार में आइसोलेशन में रखे गए हैं। हिमाचल प्रदेश कारागार एवं सुधारात्मक सेवाओं के महानिदेशक सोमेश गोयल द्वारा इस सिलसिले में जेल प्रशासन नाहन को पहले ही स्तर्क रहने की हिदायत दी गई थी तथा यही कारण है कि जेल के कैदियों की इम्युनिटी पॉवर को स्ट्रांग करने के लिए जेल महकमा पूरी ताकत लगा रहा है।

इसके अलावा जेल में कैदियों की इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, जिसमें बंदियों को अंडा, पनीर व विभिन्न प्रकार के फल प्रतिदिन की डाइट में शामिल किए गए हैं। जेल कैंपस में सेनेटाइजर, मास्क व थर्मल स्कैनिंग से बाकायदा बंदियों के साथ-साथ कर्मचारियों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है। इसके अलावा कैदियों को प्रतिदिन गोल्डन मिल्क के रूप में हल्दी वाला दूध दिया जा रहा है, ताकि कैदियों की इम्युनिटी पावर लगातार बनी रहे। केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन के जेल अधीक्षक जय गोपाल लोदटा ने बताया कि कारागार द्वारा कैदियों को विभिन्न प्रकार के तनाव से मुक्त रखने के लिए जहां रेडियो जॉकी, रेडियो कारा जंक्शन से उन्हें प्रत्येक सैल में गाने व भजन सुनाए जाते हैं, वहीं कोरोना से बचने की तमाम जानकारियां भी जेल प्रशासन की ओर से समय-समय पर उन्हें दी जाती हैं।

जेल मे कैसे आया कोरोना!

केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन में कोरोना का संक्रमण किस प्रकार पहुंचा, इस बात पर फिलहाल सवालिया निशान है। कारागार में कुल 490 बंदी हैं जिसमें से 478 पुरुष व 12 महिला कैदी हैं। इसके अलावा जेल विभाग के भी अपने 115 कर्मचारी सेवारत हैं।

The post गीत-संगीत से भगाया जा रहा कोरोना का खौफ, केंद्रीय आदर्श कारागार नाहन में प्रशासन की अनूठी पहल appeared first on Divya Himachal.