Tuesday, November 30, 2021 09:29 AM

ग्लेशियर-बाढ़ से निपटने की तैयारी

आज टेबल टॉप अभ्यास के जरिए आपदा प्रबंधन पर बनेगी रणनीति स्टाफ रिपोर्टर — भुंतर ग्लेशियर झीलों के फटने और इससे पैदा होने वाले बाढ़ के खतरे से निपटने के लिए आपदा प्रबंधन प्राधिकरण 22 अक्तूबर को खाका तैयार करेगा। राज्य आपदा प्रबंधन के निर्देशों के तहत टेबल टॉप एक्सरसाइज ऑनलाइन माध्यम से करवाई जाएगी। इस अभ्यास में जिला के विभिन्न विभागों के अधिकारी, सुरक्षा एजेंसियों के प्रतिनिधि तथा जिला इंटर एजेंसी समूह के सदस्यों की उपस्थिति रहेगी। जिला आपदा प्रबंधन ने इस संदर्भ में सभी एजेंसियों को अवगत करवाया है और कार्यक्रम में ऑनलाइन माध्यम से शिरकत होने के लिए कहा है। जिला आपदा प्रबंधन कुल्लू के अनुसार चूंकि प्रदेश विभिन्न प्रकार के संकटों के लिए संवेदनशील है और इसके लिए तैयारियों की रूपरेखा को तय करने के लिए मॉक ड्रिल जैसी गतिविधियों को किया जाता रहा है जो प्रभावशाली भी रही है।

इंसिडेंट रिस्पांस प्रणाली विकसित होने के बाद आपदा तैयारियों की प्रक्रिया मजूबत हुई है। जिला आपदा प्रबंधन के अध्यक्ष आशुतोष गर्ग के अनुसार जिला में मॉक ड्रिल को लगातार किया जाता रहा है, लेकिन वर्तमान में कोविड महामारी के कारण इस साल इस प्रकार का अभ्यास संभव नहीं हो पा रहा है। उनके अनुसार आपदाओं के लिए तैयारियों तथा क्षमता वर्धन में मॉक ड्रिल की अहम भूमिका रहती है और इसी कारण इसे ऑनलाइन माध्यम से पूरा किया जाएगा। उनके अनुसार इस संदर्भ में एनडीएम द्वारा ऑनलाइन माध्यम से इंसिडेट रिस्पांस प्रणाली प्रशिक्षण व ग्लेशियर झीलों तथा बाढ़ प्रबंधन के लिए टेबल टॉप अभ्यास करवाने को निर्णय लिया गया है। यह कार्यक्रम गुरुवार को आयोजित किया जाएगा और सभी जरूरी एजेंसियों को इसमें शिरकत करने को कहा गया है।