Monday, October 26, 2020 09:34 AM

हमारे बहादुर सैनिक

भारतीय सेना दुनिया की शीर्ष सेनाओं में से एक है। इसने 1948, 1965, 1971, 1999 व 2017 में डोकलाम में अपनी बहादुरी साबित की है। अब दोबारा अपनी बहादुरी अगस्त के महीने में साबित की है, जब चीन ने लद्दाख के पैगोंग क्षेत्र में घुसपैठ की। बिना किसी गोली के हमारी सेना ने पीएलए को चार किलोमीटर पीछे धकेल दिया। यह हमारी सेना और सरकार की इच्छा शक्ति की जबरदस्त जीत है। 1962 के बाद यह पहली बार है जब हमने खोया हुआ अपना कुछ क्षेत्र वापस पाया है।

चीन के साथ 1962 की लड़ाई के बाद स्पेशल फ्रंटियर फोर्स को तैयार किया गया था। यह एक ऐसी फोर्स है जो सेनाध्यक्ष के स्थान पर सीधे पीएमओ को रिपोर्ट करती है। चीन ने सोचा था कि भारतीय सेना पहाड़ की चोटियों में नहीं रहेगी। लेकिन वह भूल गई कि एसएफएफ  इसके लिए तैयार है। हमने इस बल की मदद से अपने चार किलोमीटर के क्षेत्र को फिर से हासिल किया।

The post हमारे बहादुर सैनिक appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.