Saturday, August 15, 2020 03:25 PM

हिमालयन क्षेत्रों की आपदाओं के जोखिम न्यूनीकरण पर होगा काम

भुंतर-हिमालयन क्षेत्र में आपदा जोखिम न्यूनीकरण के लिए जीवी पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण एवं सतत् विकास संस्था अब समुदाय स्तर पर कार्यक्रम चलाएगा। संस्थान ने एनडीएमए के मानकों के तहत कार्यक्रम चलाने को लेकर कार्य आंरभ कर दिया है और इसमें विदेशी एजेंसी भी सहयोगी होगी। लिहाजा, कुल्लू सहित प्रदेश के अन्य जिलों में भी इसके तहत गतिविधियों को करवाने की योजना बन रही है। इस संदर्भ में अगले माह एक ऑनलाइन कार्यक्रम भी आयोजित होगा। इस कार्यक्रम में संस्थान के विशेषज्ञों के अनुसार सहयोगी विदेशी एजेंसी के विशेषज्ञ, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारी व विभिन्न सामाजिक संस्थाओं व ग्रामीण स्तरीय संगठनों के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम में हिमालयी क्षेत्र की भौगोलिक परिस्थितियों व यहां की आपदाओं और इनसे होने वाले नुकसान के बारे में चर्चा की जाएगी। इसके अलावा इन आपदाओं के जोखिम को कम करने के लिए कैसे प्रयास किए जाने चाहिए और समुदाय की भूमिका को कैसे सुनिश्चित किया जाए, इस पर भी चर्चा की जाएगी।  संस्थान के प्रभारी आर के सिंह के अनुसार आपदा जोखिम न्यूनीकरण की दिशा में सभी संस्थान और विभाग समुदाय के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं और हिमालयन क्षेत्र की आपदाएं यहां के समुदाय को बड़े स्तर पर प्रभावित करती रही है।

The post हिमालयन क्षेत्रों की आपदाओं के जोखिम न्यूनीकरण पर होगा काम appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.