हिमाचल की आईटीआई में 75 फीसदी सीटें खाली, बिलासपुर में अगले साल मशीनिस्ट ट्रेड शुरू

अनिल पटियाला — बिलासपुर
हिमाचल प्रदेश की औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में 75 फीसदी सीटें खाली रह गई हैं। हालांकि अभी तक आईटीआई में पहले चरण की ही काउंसलिंग प्रक्रिया हुई है, लेकिन केवल मात्र 25 फीसदी स्टूडेंट्स ने एडमिशन लेने में रुचि दिखाई है। पहली काउंसलिंग में केवल मात्र 25 फीसदी सीट्स ही भरने के चलते विभाग भी असमंजस में है, लेकिन दूसरे चरण के काऊंसलिंग की प्रक्रिया जल्द ही होगी, जिसमें अधिकतर सीटें भरने की उम्मीद है।

दूसरे चरण की काउंसलिंग में भी यदि सीटें खाली रह जाती हैं तो इसके बाद स्टूडेंट्स को सीधी स्पॉट एडमिशन मिलेगी। स्टूडेंट्स अपनी मनमार्जी से किसी भी आईटीआई में दााखिला ले सकते हैं। उधर, इस बारे में तकनीकी शिक्षा निदेशालय सुंदरनगर से उप निदेशक देवेंद्र राणा ने बताया कि दूसरे चरण की काउंसिलिंग के तहत पोर्टल को लाइव कर दिया गया है। एडमिशन लेने से वंचित रह गए स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं। ताकि दूसरी काऊंसलिंग प्रक्रिया में भाग ले सकें। वहीं, नॉन हिमाचली भी एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि नियमानुसार एडमिशन प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

इसके अलावा औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बिलासपुर में अगले शैक्षणिक सत्र से एक नया ट्रेड मशीनिस्ट शुरू होगा। इसके लिए तकनीकी शिक्षा विभाग की ओर से स्वीकृति दे दी गई है। मशीनिस्ट बनने में रुचि रखने वाले युवाओं को इसका लाभ मिलेगा। प्रारंभिक चरण में इस ट्रेड में 20 सीटें निर्धारित की जाएंगी। इस ट्रेड में दाखिला लेने वाले युवाओं को बेहतर प्रशिक्षण प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।

उधर, इसके बारे में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बिलासपुर के प्रधानाचार्य अजेश कुमार ने कहा कि अगले शैक्षणिक सत्र से संस्थान में मशीनिस्ट ट्रेड शुरू किया जाएगा। इसके लिए उच्च अधिकारियों की ओर से स्वीकृति मिली है। बाकायदा इसके लिए बजट भी स्वीकृत है। जिसके चलते यह ट्रेड शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आइटीआई में स्टेनो ट्रेड शुरू करने पर भी विचार किया जा रहा है। यदि उच्च अधिकारियों की स्वीकृति मिली तो इस ट्रेड को भी शुरू किया जाएगा। ताकि इन ट्रेड में रूचि रखने वाले स्टूडेंट्स को लाभ मिल सके।

The post हिमाचल की आईटीआई में 75 फीसदी सीटें खाली, बिलासपुर में अगले साल मशीनिस्ट ट्रेड शुरू appeared first on Divya Himachal.

Related Stories: