हिमाचल में बनेंगी 230 नई पंचायतें…

सरकार के पास पहुंचे प्रस्ताव; पंचायती राज विभाग ने सभी उपायुक्तों से सात दिन में मांगी आपत्तियां-सुझाव, फिर राज्य चुनाव आयोग शुरू करेगा प्रक्रिया

विशेष संवाददाता — शिमला

प्रदेश में सरकार के पास 230 नई पंचायतों के गठन के प्रस्ताव आए हैं। पंचायती राज विभाग ने संबंधित जिलाधीशों को इन प्रस्तावों पर सात दिन के भीतर आपत्तियां व सुझाव लेने को कहा है। इसके बाद जिलाधीशों के माध्यम से नई पंचायतों के गठन की अधिसूचना जारी होगी। पंचायती राज विभाग ने विस्तृत सूची जारी कर दी है। इससे पहले यहां  पंचायतों के गठन के लिए मापदंड भी तय कर दिए हैं।

 उधर राज्य का चुनाव आयोग नई पंचायतों की अधिसूचना के बाद अपनी चुनाव प्रक्रिया आगे चलाएगा, जिसने अभी इस प्रक्रिया को रोक रखा है। पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने बताया कि गैर-जनजातीय क्षेत्रों के लिए अनुमोदित मापदंडों के अनुसार उन ग्राम पंचायतों से नई पंचायतों का गठन किया जाएगा, जिनकी 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या 2000 तथा उससे अधिक है तथा परिवारों की संख्या 500 या उससे अधिक, पंचायत के वर्तमान मुख्यालय से सबसे दूर वाले गांव की दूरी पांच किलोमीटर या उससे अधिक, गांव की संख्या पांच तथा उससे अधिक है। इसके साथ यह शर्त भी है कि वर्तमान पंचायत तथा नव प्रस्तावित ग्राम पंचायत की जनसंख्या विभाजन के बाद न्यूनतम 600 होनी चाहिए।

 यह मापदंड पिछड़े क्षेत्रों के लिए भी लागू होगा। इसी प्रकार जनजातीय क्षेत्रों की उन ग्राम पंचायतों में से नई पंचायतें बनाई जाएगी, जिनकी जनसंख्या 750 और उससे अधिक है। इसके साथ यह शर्त भी है कि वर्तमान पंचायत तथा नव प्रस्तावित ग्राम पंचायत की जनसंख्या विभाजन के बाद न्यूनतम 300 होनी चाहिए। अनुमोदित मापदंडों के अनुसार प्रदेश में 230 जिनमें जिला बिलासपुर में 14, चंबा में 18, हमीरपुर में नौ, लाहुल-स्पीति में चार, किन्नौर में सात, सोलन में 17, मंडी में 65, कांगड़ा में 33, शिमला में 35, ऊना में दो, कुल्लू में 28 तथा सिरमौर में आठ नई ग्राम पंचायतों का गठन प्रस्तावित हैं।

ये हैं नई प्रस्तावित ग्राम पंचायतें

बिलासपुरः घुमारवीं विकास खंड में दकड़ी, तियून खास, बाड़ी मझेजवा, अवारी खलीण और पलासला नई प्रस्तावित पंचायतों में शामिल हैं। इसके अलावा सदर विकास खंड में ओयल, नोग, मलोखर, जमथल, निहारखण वासला और भोली शामिल हैं। झंडूता में निहाण और नयनादेवी विकास खंड में मझेड़ और ग्वालथाई नई ग्रामसभा बनाई गई हैं।

चंबाः चंबा विकासखंड में चंबी, हमल, घघरौता, निहूई व कुरैणा शामिल हैं। मैहला ब्लॉक में फागड़ी, कुम्हारका, गाण, टपूण और धरेड़ी नई ग्राम सभा प्रस्तावित हैं। तीसा में सोठी (भावला), नेरा, भलोड़ी, भटियात में भलूडा, भरमौर में सैहली और पांगी में फिंडरू, शौर और हडला शामिल हैं।

हमीरपुरः बमसन विकास खंड में बरोहा, भरनाग, भौरंज में नाहलवीं, रौही और चौकी कनकरी नई प्रस्तावित पंचायतों में शामिल हैं। बिझड़ी में पटेरा, दैण और नादौन में बर्धयाड़ शामिल हैं।

लाहुल-स्पीतिः उदयपुर ब्लॉक में सलग्रां, किशोरी, नामू (मुडीग्राम) और जुंडा शामिल हैं। कल्पा में युवारगी, पूह में चूलिंग, डुबलिंग और अकपा खास प्रस्तावित नई ग्रामसभा में शामिल हैं। निचार में बड़ा खंबा, काबा और चोरा शामिल हैं।

सोलन ः कंडाघाट ब्लॉक में सैंज, रेहड़, कुनिहार में साईं, रौड़ी, बरायली, क्यारड़, जधून, बागा (करोग), पट्टा, चईयाधार नई प्रस्तावित ग्रामसभाएं बनाई हैं। नालागढ़ में बाह, काहू, गगुवाल, तरली बेहड़ और जयनगर शामिल हैं। सोलन विकास खंड में रणो और मनसार नई ग्रामसभा बनाई हैं।

शिमलाः छौहारा ब्लॉक में आंध्रा, बनोटी, पदराड़ा, कुताह, झिकनीपुल, वहीं जुब्बल कोटखाई ब्लॉक में झडग, शोघी, वढ़ई, मांझू, वर्मू, कोलू जुब्बड़, गिरबखुर्द, मैहली, रामपूर ब्लॉक में फूजा, मशनू, सनारसा, गानबी, रोहड़ू ब्लॉक में शरोग खारला, वहीं ठियोग ब्लॉक में धारतपुनू, मखडोल, डमयाणा, धगाली, भाज देहना के नाम नई पंचायत के लिए प्रस्तावित हैं।

ऊनाः अंब ब्लॉक में प्रतापनगर और बंगाणा ब्लॉक में कठोह पंचायत प्रस्तावित हैं।

मंडीः बल्ह विकास खंड में रेफल, लोहारड़ी, रिगड़, सरकीधार, डहणू, दरव्यास नई प्रस्तावित पंचायतों में शामिल हैं। चौंतड़ा में भगैहड़, बघैर रक्तल, दं्रग में चेली, कचोटधार, बह, खलैहल, जलपेहड़, गोहर में दाण, जाछ, काशन, गवाड़, कांढी, गुढार नई ग्रामसभा बनी हैं। धर्मपुर में सरौण, भराड़ी, मुख्यालय पिपली, जोढ़न, घरवासड़ा, देवगढ़, चौकी, गोपालपुर में चल्होग, गुम्मू, रिस्सा नई पंचायतों में शामिल हैं। करसोग में थाच (थमीं), कुफरीधार, सुई, कनेरी-माहोग, तुमन शामिल हैं। सदर में शकरयार (गाड), मैगल, नेला, धुआंदेवी (हलजोह), डंढाल, हटौण, मासड नई ग्रामसभाएं बनी हैं। बालीचौकी में टिक्कर, स्वाखरी, बसूट, सुधराणी, खुहण, जुफर कोट, जला (काशना), कांडा, लघडयाणा, राहला, कून, रेश, शिल्हमशोरा, पलसेहड़ शामिल है।  सराज में झुडी, संगलवाड़ा, बहल, चेत (सोझा), खबलेच, नैहरास्थित (मैहरीधार), कयोली, लेहथाच और सुंदरनगर में शेगल, स्याजीकोठी और किंदर नई प्रस्तावित ग्रामसभा में शामिल की गई हैं।

कांगड़ाः देहरा ब्लॉक में सकडयालू, गुगाण, देहरू, छिलगा, मियोल, ठठलेहड, फखेड़, धतेड़, सिहोटी खुर्द और उमर प्रस्तावित पंचायतें शामिल हैं। इंदौरा ब्लॉक में भदरोआ, मलकाना, नगरोटा सूरियां में भलाड़ा और न्यागल नई ग्रामसभा हैं। नूरपुर में न्योरा, जसूर, बरूही, सिंबली शामिल हैं। रैत में रक्कड़ का बाग, बागडू, कजलोट नई ग्रामसभा बनाई हैं। सुलाह में खास गगल, देवी, सपहुल, रड्डा, थुरल खास, हैजा, सोरनू, बल्ला, कुहाणा नई ग्रामसभा होंगी। भवारना में तप्पा, बडघवार, गदियाड़ को नई प्रस्तावित पंचायतों में शामिल किया गया है।

कुल्लूः कुल्लू ब्लॉक में जां, छलाल, रैला-2, दलाशनी नई प्रस्तावित पंचायतों में शामिल हैं। नग्गर ब्लॉक के सरसेई, राऊगी, सोयल, सलिंगचा, रूमसू, लराकेलो, ग्राहण, चताणी, बंदल, चोकिडोभी, चचोगा, जुआगी, कोटी, ब्रौ, जगातखाना। आनी ब्लॉक के कोटासेरी, लफाली, कराणा, बटाला, आनी सदर, विनण। बंजार ब्लॉक से जमद, पेखड़ी, सजवाड़ हैं।

सिरमौरः नाहन ब्लॉक की कमलाड़, पांवटा साहिब के कटवाड़ी, भगड़त, भुंगरनी, पच्छाद ब्लॉक में दीद घलूत, राजगढ़ ब्लॉक में धनच मानवा, संगड़ाह ब्लॉक में छोउ भोगर, पुनूधार, डाहर प्रस्तावित नई पंचायतों में शामिल की गई हैं।

The post हिमाचल में बनेंगी 230 नई पंचायतें… appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.

Related Stories: