Monday, October 18, 2021 04:31 PM

Himachal Navratri: 8वें नवरात्र पर 63899 श्रद्धालुओं ने लगाई मां के दर हाजिरी

स्टाफ रिपोर्टर-शिमला

नवरात्र मेले के दौरान बुधवार को अष्टमी के दिन 63 हजार 899 श्रद्धालुओं ने प्रदेश के शक्तिपीठों में माईया के चरणों में शीश नवाया। प्रदेश के शक्तिपीठों ज्वाला जी, चामुंडा देवी, नयनादेवी, ब्र्रजेश्वरी देवी, चिंतपूर्णी मंदिर में माता के दर्शनों को श्रद्धालुओं की खूब भीड़ उमड़ी। मां के दर्शनों के लिए मंदिरों में दिनभर श्रद्धालुओं की कतारें लगी रही। मां के मंदिरों में अष्टमी के दिन विशेष पूजा-अर्चना और कंजक पूजन किया गया। इसके अलावा ऊना जिला के संतोषगढ़ नगर में भी अष्टमी के दिन लकड़ी की पालकी में मईया की विशाल झांकी निकाली गई। उक्त झांकी हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं में माता एवं भैरव नाथ के चरणों में शीश नवाया। बुधवार को अष्टमी के दिन नयनादेवी मंदिर में 19 हजार श्रद्धालुओं ने मां के चरणों में माथा टेका। मंदिर अधिकारी विजय शर्मा ने बताया कि में 11 लाख दस हजार 320 रुपए का नकद चढ़ावा एवं दस पौंड और 119 ग्राम 700 मिली सोना और दो किलो 173 ग्राम 200 मिली चांदी चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुई है।

ज्वालाजी मंदिर में अष्टमी के दिन करीब 20 हजार श्रद्धालुओं ने माथा टेका। मंदिर अधिकारी दीनानाथ यादव ने बताया कि मंदिर में 11 लाख 17 हजार 462 रुपए का नकद चढ़ावा और इंगलैंड के 50 पौंड चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं ने पांच ग्राम 800 मिली सोना एवं 534 ग्राम चांदी का चढ़ावा चढ़ाया है। इसके अलावा चामुंडा देवी मंदिर में अष्टमी के दिन तीन हजार श्रद्धालुओं ने शीश नवाया। वहीं बज्रेश्वरी देवी मंदिर में अष्टमी के दिन 16 हजार श्रद्धालुओं ने शीश नवाया। मंदिर अधिकारी दलजीत शर्मा ने बताया कि मंदिर में तीन लाख 95 हजार का नकद चढ़ावा प्राप्त हुआ है। उन्होंने बताया कि मंदिर में तीन ग्राम सोना और 270 ग्राम चांदी चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुई है। इसके अलावा चिंतपूर्णी मंदिर में बुधवार को अष्टमी के दिन पांच हजार 899 श्रद्धालुओं ने मां के चरणों में माथा टेका। उपायुक्त राघव शर्मा ने बताया कि मंदिर में सात लाख पांच हजार 955 रुपए का नकद चढ़ावा प्राप्त हुआ है। इसके अलावा 20 ग्राम सोना और 623 ग्राम चांदी चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुई है।