Tuesday, June 15, 2021 01:07 PM

खुल गया हिमाचल; सोमवार से हटेंगी बंदिशें, आठ घंटे खुलेंगी दुकानें, दौड़ेंगी बसें

मस्तराम डलैल — शिमला

हिमाचल प्रदेश में बस सेवा सोमवार से शुरू हो जाएगी। राज्य के भीतर पब्लिक ट्रांसपोर्ट 50 फीसदी सवारियों के साथ दिन-रात चल सकता है। निजी वाहनों में फुल कैपेसिटी के साथ आवाजाही की अनुमति रहेगी। प्रदेश के बाजार सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक खुले रहेंगे। सरकारी कार्यालयों में हर दिन 50 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है। दिव्यांग और गर्भवती महिलाएं वर्क फ्रॉम होम जारी रखेंगी। इसी बीच सरकार ने बड़ा फैसला लिया है कि शनिवार और रविवार को दोनों दिन जरूरी सेवाओं को छोड़ कर सभी दुकानें बंद रहेंगी। हालांकि इस दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट चलता रहेगा। हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में पारित फैसलों को लेकर राज्य आपदा प्रबंधन ने नए दिशा-निर्देशों की अधिसूचना जारी कर दी है। इसके तहत यह आदेश 14 जून सुबह छह बजे से आगामी निर्देशों तक लागू रहेंगे। अधिसूचना में स्पष्ट किया गया है कि इंटरस्टेट बस सेवा तथा पब्लिक ट्रांसपोर्ट पहले की तरह प्रतिबंधित रहेगा।

 सिर्फ राज्य के भीतर ही इस सेवा को बहाल किया गया है। बाहरी राज्यों से हिमाचल आने के लिए अब आरटी-पीसीआर टेस्ट की शर्त समाप्त कर दी है। बॉर्डर एंट्री के लिए बाहर से आने वाले लोगों का कोविड पोर्टल पर पहले की तरह पंजीकरण जारी रखा गया है। सोमवार से लेकर शुक्रवार तक अब प्रदेश के सभी बाजार सुबह नौ से लेकर शाम पांच बजे तक खुले रहेंगे, इसमें हेयर कटिंग, ब्यूटीपार्लर और सैलून को भी शामिल कर लिया है। राज्य आपदा प्रबंधन ने शनिवार और रविवार को पहले की तरह दुकानें बंद रखने की व्यवस्था जारी रखी है। इन दोनों दिन में सिर्फ दूध, ब्रेड, अंडा, दही, फल-सब्जी, मटन-चिकन और दवा दुकानें ही खोली जा सकती है। सरकारी कर्मचारियों को सभी वर्किंग डेज में ऑफिस आना होगा।

 पांच से कम संख्या वाले दफ्तरों में सभी कर्मचारियों को आना होगा। इससे अधिक संख्या वाले कर्मचारियों को रोजाना 50 फीसदी क्षमता के साथ ऑफिस में उपस्थिति दर्ज करवानी होगी। शादी समारोह तथा अंतिम संस्कार के लिए पहले की तरह 20 लोगों के शामिल होने की शर्त जारी रखी गई है। अन्य सभी प्रकार के आयोजनों पर पाबंदी रहेगी। मंदिर पहले की तरह बंद रहेंगे। जिम, स्पोर्ट्स काम्प्लैक्स, स्वीमिंग पूल तथा सिनेमाघरों सहित शिक्षण संस्थानों को भी आगामी आदेशों तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। हालांकि मेडिकल, डेंटल और आयुर्वेदा कालेजों को 23 जून तथा नर्सिंग-फार्मेसी कालेजों को 28 जून से खोलने के निर्देश दिए गए हैं। पर्यटन को खोलने की छूट दे दी है। इसके लिए राज्य आपदा प्रबंधन अलग से दिशा निर्देश जारी करेगा। एचडीएम