Saturday, January 23, 2021 04:20 PM

होम आइसोलेट मरीजों को मिलेगा बेहतर इलाज, स्वास्थ्य संस्थानों में शिफ्ट करने को चिन्हित सीएचसी को मिलेंगे समर्पित वाहन

मुख्यमंत्री ने कहा है कि होम आइसोलेशन के तहत कोविड-19 मरीजों को उनके स्वास्थ्य की आवश्यकतानुसार उपचार किया जाएगा। उन्हें स्वास्थ्य संस्थानों में स्थानांतरित करने के लिए चिन्हित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में समर्पित वाहन प्रदान किए जाएंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को शिमला में राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह अनुभव किया जा रहा था कि यदि घर पर उपचाराधीन कोविड-19 मरीज को उपचार के लिए अस्पताल स्थानांतरित करने की आवश्यकता होती है, तो उन्हें अस्पताल तक जाने के लिए उचित वाहन प्राप्त करने में कठिनाई हो सकती है। उन्होंने कहा कि इन वाहनों में ड्राइवर कैबिन को पिछली सीट से अलग करने के लिए फाइबर ग्लास लगाया जाएगा। इससे मरीजों, विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत सुविधा प्राप्त होगी। मरीजों की सुविधा के लिए ऐसे हर संस्थान में दो वाहन प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त आपातकालीन सेवाओं को और सुदृढ़ करने के लिए जिलों के संस्थानों से 30 वाहन प्रदान किए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लोगों के कोविड-19 के सैंपल एकत्रित करने के लिए कुछ स्थानों पर वॉक-इन-कियोस्क स्थापित किए गए हैं। उन्होंने अधिकारियों को इसका व्यापक प्रचार करने को कहा है, ताकि आम जनता इसका लाभ उठा सके। सीएम ने कहा कि घर में उपचाराधीन कोविड मरीजों को उनकी स्वास्थ्य की पूछताछ के लिए चिकित्सकों द्वारा कम से कम एक टेलीफोन कॉल सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी तंत्र विकसित किया जाना चाहिए। इससे न केवल रोगियों के स्वास्थ्य मापदंडों के बारे में जानकारी उपलब्ध होगी, बल्कि मरीजों का मनोबल बढ़ाने में भी सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन-1100 के कर्मचारियों को कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों का वायरस से लड़ने के लिए मनोबल बढ़ाने और कुशलक्षेम जानने के लिए फोन कॉल करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड के लिए समर्पित बिस्तरों की कोई कमी नहीं है और ऑक्सीजन सिलेंडर भी काफी मात्रा में उपलब्ध हैं। सीएम ने कहा कि सभी कोविड वार्डों में मरीजों की सुविधा के लिए गर्म पानी और स्टीमर की पर्याप्त व्यवस्था की जानी चाहिए। मरीजों के लिए स्वच्छ शौचालय सुनिश्चित करने के लिए विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सहजल ने भी इस अवसर पर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए। मुख्य सचिव अनिल खाची ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि राज्य में महामारी के प्रसार को रोकने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया को सख्ती से कार्यान्वित किया जाएगा। अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व आरडी धीमान, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव जेसी शर्मा, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया।

चार प्री-फेब्रिकेटिड कोविड अस्पताल जल्द

स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने कहा कि राज्य में बनाए जा रहे चार प्री-फेब्रिकेटिड कोविड अस्पताल एक पखवाड़े के भीतर बनकर तैयार हो जाएंगे, जिससे कोविड मरीजों के लिए बिस्तर क्षमता में वृद्वि होगी। उन्होंने कहा कि यद्यपि पिछले कुछ दिनों में कोविड मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्वि हुई है, लेकिन ज्यादा संख्या में कोविड टेस्ट किए  जाने के परिणामस्वरूप भी मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

The post होम आइसोलेट मरीजों को मिलेगा बेहतर इलाज, स्वास्थ्य संस्थानों में शिफ्ट करने को चिन्हित सीएचसी को मिलेंगे समर्पित वाहन appeared first on Divya Himachal.