Saturday, November 27, 2021 11:48 PM

जीव-जंतुओं के प्रति बढ़ती क्रूरता शर्मनाक

भारत सारी दुनिया में प्राकृतिक सौंदर्य में नंबर एक माना जाता है। प्रकृति की सुंदरता जंगली जीव-जंतुओं से भी होती है। लेकिन आज इनसान ने भौतिकतावाद की अंधी दौड़ में प्रकृति की नाक में दम तो किया ही है, साथ ही जीव-जंतुओं का जीना भी दुश्वार कर दिया है। यहां तक कि बहुत से जंगली जीव-जंतुओं की प्रजातियां लुप्त होने की कगार तक पहुंच चुकी है ।

प्राणी जाति में इनसान को सबसे समझदार प्राणी माना जाता है, लेकिन समय-समय पर पशुओं-पक्षियों और जानवरों के साथ कुछ शरारती तत्वों द्वारा की जाने वाली बर्बरता की दिल दहलाने वाली खबरें इंसानियत को शर्मसार कर रही हैं। कुछ समय पहले एक खबर आई थी कि केरल में इंसानियत के दुश्मनों ने गर्भवती भूखी हथिनी को अनानास के बीच पटाखे डालकर खिला दिए थे। ऐसी खबरें मानवता को शर्मसार करने वाली हैं।

-राजेश कुमार चौहान, सुजानपुर टीहरा