Friday, September 24, 2021 06:07 AM

कम बोलता हूं, तो यह मतलब नहीं कि कम जानकार हूं, मुख्यमंत्री का विरोधियों पर निशाना

पंडोह। अगर मैं कम बोलता हूं तो इसका मतलब यह नहीं कि कम जानकार हूं। शालिनता और सहजता के साथ काम करना मेरा स्वभाव है और ऐसे स्वभाव से किसी को कम नहीं आंका जा सकता। यह बात मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को अपने गृहक्षेत्र सराज के सरोआ में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

जयराम ठाकुर विरोधियों के प्रति काफी तल्ख नजर आए और जनसभा के माध्यम से जमकर जुबानी तीर छोड़े। उन्होंने कहा कि शालिनता और सहजता के साथ काम करना हिमाचल की संस्कृति का परिचायक है और मैं उसी के तहत अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहा हूं। जयराम ठाकुर ने कहा कि उनकी सरकार के साढ़े तीन वर्षों के कार्यकाल में विपक्षी दल को एक भी मुद्दा नहीं मिल पाया और विपक्षी नेता आज सिर्फ कहने के लिए ही कह रहे हैं।

आज कोई भी शख्स सरकार या किसी भी नेता पर उंगली नहीं उठा सकता। जबकि पूर्व में सरकारें बनने के चार-छ महीनों के भीतर ही मुद्दों की भरमार लग जाती थी फिर चाहे वो कांग्रेस की सरकार रही हो या भाजपा की। जयराम ठाकुर ने कहा कि आज विरोधियों को सिर्फ सराज का विकास ही नजर आ रहा है जबकि पूरे प्रदेश का समान दृष्टि से विकास किया जा रहा है। सराज से वह चुने हुए प्रतिनिधि हैं और प्रदेश के मुखिया के रूप में अपना दायित्व निभा रहे हैं। ऐसे में सराज के विकास का दायित्व भी उन्हीं का है।

उन्होंने कहा कि अभी हालही में सरकार ने दूसरे कई विधानसभा क्षेत्रों में कई बड़े कार्यालय खोलने का निर्णय लिया है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने सरोआ में उठाउ सिंचाई योजना लाटोगली तथा सांबला का उदघाटन भी किया और उपरांत इसके धरोट में वन विश्राम गृह, उठाउ पेयजल योजना बस्सी धरोट, बहाव सिंचाई योजना चंद्रोधार से धरोट, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला डडोह के अतिरिक्त भवन का उदघाटन करेंगे और रेशमकीट पालकों को कीटें भी प्रदान की। वहीं उन्होंने जनता की समस्याएं भी सुनी।