Tuesday, April 13, 2021 09:19 AM

Ind vs Eng : अंग्रेजों को फिर फिरकी में फंसा फाइनल टिकट कटाने को तैयार

प्रो कबड्डी के तर्ज पर कोर्फबाल लीग की है तैयारी

कार्यालय संवाददाता — मंडी

अखिल भारतीय कोर्फबाल संघ की बैठक कारोना महामारी के बाद पहली बार दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष हिमांशु मिश्रा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस दौरान राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न कमेटियों के गठन पर चर्चा की गई, जिसमें हिमाचल प्रदेश के महासचिव बीआर सुमन को रैफरी बोर्ड की चेयरमैन नियुक्ति किया। इस दौरान सर्वप्रथम हिमाचल प्रदेश कोर्फबाल संघ की ओर से समस्त राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों को हिमाचली टोपी पहनाकर सम्मानित किया गया। करीब तीन घंटे चली बैठक में कोर्फबाल खेल को शहर से लेकर ग्रामीण स्तर तक लोकप्रिय बनाने के लिए निर्णय लिया गया।

 बैठक में प्रो-कबड्डी खेल की तर्ज पर कोर्फबाल लीग मैच करवाने का निर्णय लिया गया। प्रो-कबड्डी की तर्ज पर कोर्फबाल खेल के लीग मैच होंगे, ताकि देशभर के खिलाडि़यों की प्रतिस्पर्धाएं आयोजित जा सके। हिमाचल प्रदेश कोर्फबाल संघ के महासचिव एवं रैफरी बोर्ड के चेयरमैन बीआर सुमन ने बताया कि दो अप्रैल को हरियाणा राज्य के पलवल में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी। इसके समस्त राज्यों के महासचिव भी भाग लेंगे।

एजेंसियां — अहमदाबाद

टेस्ट इतिहास में कोई टेस्ट इतना महत्वपूर्ण साबित नहीं हुआ होगा जितना भारत और इंग्लैंड के बीच गुरुवार से यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में शुरू होने वाला चौथा और अंतिम स्टेडियम बन गया है, जिस पर आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल की दूसरी टीम का भविष्ष्य टिका हुआ है। भारत को फाइनल में जाने के लिए इस टेस्ट में जीत या ड्रा की जरूरत है, जबकि फाइनल की होड़ से बाहर हो चुके इंग्लैंड ने यदि यह टेस्ट जीता, तो सीरीज के ड्रा होने के कारण भारत बाहर हो जाएगा और ऑस्ट्रेलिया भाग्य के भरोसे फाइनल में पहुंच जाएगा। फाइनल इस साल जून में इंग्लैंड के ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर होना है और न्यूज़ीलैंड की टीम पहले ही फाइनल में पहुंच चुकी है, जबकि फाइनल की दूसरी टीम का फैसला होना बाकी है।

 अहमदाबाद में खेला गया तीसरा टेस्ट मात्र दो दिन में ही समाप्त हो गया था, जिसे भारत ने 10 विकेट से  जीता  था। इंग्लैंड की टीम ने भारतीय स्पिनरों के सामने घुटने टेक दिए थे और दोनों परियों में उसने 112 और 81 रन बनाए थे। लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ने तीसरे दिन रात्रि टेस्ट में 11 और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने सात विकेट लेकर अंग्रेजों को दो दिन में जमीन सूंघने पर मजबूर कर दिया था। चेन्नई में दूसरे टेस्ट में भी स्पिनरों का बोलबाला रहा था और भारत ने दूसरा  टेस्ट 317 रन के रिकॉर्ड अंतर से जीता था। चौथे टेस्ट में भी दोनों टीमों की परीक्षा स्पिन ट्रैक से ही होगी, जिसके लिए दोनों टीमें पूरी तैयारी कर चुकी होंगी।

चौथे टेस्ट के लिए संभावित प्लेइंग-11

गिल/मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्या रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर/कुलदीप यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज

डॉमनिक सिबली, जैक क्राउली, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट (कप्तान), ऑली पोप, बेन स्टोक्स, बेन फोक्स (विकेटकीपर), डॉम बेस, जैक लीच, जोफ्रा आर्चर, जेम्स एंडरसन

न्यूजीलैंड में हम तीन दिन में हारे, तब क्यों नहीं बोले

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पिच पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हम तीन दिन में टेस्ट हार गए थे। तब किसी ने कुछ नहीं बोला था। लोग कह रहे थे हमारे बल्लेबाजों ने बेकार खेला और अब पिच पर सवाल उठा रहे हैं। कोहली ने कहा कि मुझे नहीं पता कि लोग बॉल और पिच पर इतना फोकस क्यों कर रहे हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि टीम जीत के लिए मैदान पर आती है या पांच दिन खेलने के लिए? कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रहे चौथे और आखिरी टेस्ट से प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि हम जीतने के लिए आते हैं। हम इसलिए नहीं आते कि हर एक बल्लेबाज रन बनाए। हमारी जीत से फैंस को खुशी मिलती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैच कितने दिन में खत्म हो रहा है। वहीं, कोहली ने कहा कि कुलदीप यादव फिलहाल अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं, लेकिन सही कॉम्बिनेशन की वजह से हम उन्हें टीम में शामिल नहीं कर पा रहे हैं। वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल को फिलहाल इंटरेनशनल टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा अनुभव नहीं है। इसलिए हम एक्स्ट्रा बैटिंग ऑप्शन की तलाश में हैं।