Monday, October 26, 2020 02:52 PM

कर्मचारी नेता बोले, मांगों को पूरा नहीं किया, तो सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ सड़कों पर भी उतरने से नहीं करेगा गुरेज

प्रदेश भर के सेवानिवृत्त कर्मचारी महासंघों का संयुक्त अधिवेशन सोमवार को कुनिहार में आयोजित हुआ। अधिवेशन के दौरान कर्मचारी नेता अपनी चिरलंबित मांगों के पूरा न होने पर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर गरजे। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि यदि उनकी मांगों को जल्द ही पूरा नहीं किया गया, तो सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ सड़कों पर भी उतरने से गुरेज नहीं करेगा।

भारतीय पेंशनर महासंघ की राज्य स्तरीय बैठक की अध्यक्षता प्रदेशाध्यक्ष ब्रह्मानंद ने की। इस अवसर पर महासंघ के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष व पूर्व कर्मचारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष घनश्याम शर्मा बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रहे। बैठक के दौरान संघ की प्रमुख मांगों को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर सरकार से 65, 70 व 75 वर्ष की आयु पर मिलने वाली राशि को मूल पेंशन में जोड़ने व प्रदेश में कर्मचारी कल्याण बोर्ड का गठन कर इसका अध्यक्ष घनश्याम शर्मा को बनाए जाने की पुरजोर मांग की। मुख्यातिथि घनश्याम शर्मा ने कहा कि सरकार हमारी मांगों को अभी तक पूरा नहीं कर रही है।

 राज्य स्तरीय संयुक्त सलाहकार समिति का तुरंत गठन किया जाए, केंद्र सरकार के सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को प्रदेश में किया जाए, पथ परिवहन सेवानिवृत्त कर्मचारियों को मासिक पेंशन का स्थायी प्रावधान किया जाए, वर्ष 2003 के बाद सेवारत कर्मचारियों को पुरानी पेंशन लागू की जाए। चिकित्सा आपूर्ति भत्ते का भुगतान कैशलैस किया जाना चाहिए।

The post कर्मचारी नेता बोले, मांगों को पूरा नहीं किया, तो सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ सड़कों पर भी उतरने से नहीं करेगा गुरेज appeared first on Divya Himachal.