Thursday, November 26, 2020 01:52 AM

कर्मियों को मिले पुरानी पेंशन का ही अधिकार

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी ने नई पेंशन कर्मचारी एसोसिएशन द्वारा पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर 24 अक्तूबर को किए जा रहे धरना-प्रदर्शन का समर्थन किया है। पार्टी ने राज्य सरकार से मांग उठाई है कि नई पेंशन व्यवस्था को तुरंत समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना को बहाल कर सभी वर्गों के कर्मचारियों को उनका पेंशन का अधिकार प्रदान किया जाए।

पार्टी के राज्य सचिव मंडल सदस्य संजय चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं के दबाव में आकर सरकार आर्थिक सुधारों को लागू कर देश व प्रदेश में मजदूर, किसान व कर्मचारी विरोधी नव उदारवादी नीतियों को लागू कर रही है। नई पेंशन योजना भी इन्हीं नीतियों का परिणाम है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि देश में बीजेपी के नेतृत्व में तत्कालीन एनडीए की सरकार ने जनवरी, 2004 से नई पेंशन योजना को लागू किया था, जबकि हिमाचल प्रदेश में इससे पूर्व ही 15 मई, 2003 में तत्कालीन बीजेपी की सरकार ने इसे प्रदेश में लागू कर कर्मचारियों के पेंशन अधिकार को समाप्त कर दिया था।

The post कर्मियों को मिले पुरानी पेंशन का ही अधिकार appeared first on Divya Himachal.