Sunday, November 29, 2020 03:58 PM

Kullu Dussehra 2020: उपायुक्त ने किया रथ मैदान का निरीक्षण, तैयारियां तेज

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-कुल्लू
अक्तूबर 25 को होने वाले दशहरा उत्सव की तैयारियों को लेकर गुरुवार को उपायुक्त कुल्लू ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ रथ मैदान का निरीक्षण किया। इस दौरान उपायुक्त ने पूरा जायजा लिया है कि किस तरह के भगवान रघुनाथ की शोभायात्रा रथ मैदान से होते हुए उनके स्थाई शिविर तक जाएगी। बता दें कि यहां रथ यात्रा में शामिल होने वाले सभी लोगों के कोविड-19 टेस्ट भी लिए जाएंगे। साथ ही जो रथ को खींचेंगे उनके भी सभी के टेस्ट 48 घंटे पहले लिए जाएंगे।

इस के साथ जो लोग देवता के रथ के साथ आएंगे। उनके भी कोविड टेस्ट होंगे। यानी लोगों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखते हुए कोविट टेस्ट किए जा रहे है, ताकि आयोजन के दौरान किसी को भी कुछ न हो सके। यही नहीं, भगवान रघुनाथ की रोजाना शिविर में होने वाली पूजा में कितने पुराजी रहेंगे। इन सभी को लेकर भी चर्चा भगवान रघुनाथ जी के छड़ीवदार के साथ हों चुकी है ताकि सभी की सुरक्षा का ध्यान रखा जाए।

वहीं, भगवान के दर्शन करने आने वाले भक्तों की भी सुरक्षा का पूरा ध्यान प्रशासन की और से रखा जाएगा। कोविड-19 के चलते इस बार दशहरा उत्सव में देव परंपराओं का ही निर्वाहन किया जा रहा है। ऐसे में देव पंरम्परा भी अच्छे से निभाई जाए। देव समाज से लेकर सभी एक जुटहोकर दशहरा उत्सव की तैयारी कर रहे है।

कोविड-19 के संक्रमण से सभी बचे रहे। इस लिए आयोजन को काफी छोटा किया जा रहा है। ऐसे में 25 को होने वाली रथयात्रा को लेकर उपायुक्त ने रथ मैदान का निरीक्षण किया कि किस तरह से सुरक्षा के बीच भगवान रघुनाथ जी को उनके अस्थाई शिविर तक रथ में खींचकर लाया जाएगा। इसी के साथ उन्होंने नगर परिषद के कर्मचारियों को भी साफ सफाई को विशेष ध्यान रखने की बात करते हुए। सेनेटाइज करते रहने के भी उपायुक्त ने निर्देश दिए। सभी को मास्क पहनने और एक दूसरे से दो गज की दूरी रखने का भी आहवान किया।

प्रशासन की मनाही के बाद भी वार्ड-9 में डटे व्यापारी
दिव्य हिमाचल ब्यूरो-कुल्लू
जहां दशहरा इस बार सूक्ष्म बनाए जाने की बात प्रशासन कर रहा है। ऐसे में बाहरी राज्य के व्यापारी इस बार दशहरे में कारोबार नहीं करेंगे। इसे लेकर भी प्रशासन ने साफ मनाही की है। लेकिन प्रशासन की मनाही के बाद भी अभी तक रेहड़ी-फड़ी लगाकर सामान बेचने वाले और गैग्ज का सामान बेचने वाले व्यापारी अभी भी निडर होकर वार्ड नौ में मंची लगाकार सामान बेच रहे है। हालांकि स्थानीय स्थानीय लोगों के बार बार कहने के बाद भी निडर होकर यह बाहरी राज्यों से आए कारोबारी अपने सामानों को खुले में बेच रहे है।

बिना मास्क के यह कारोबारी जहां खुले में सामान बेच रहे है। वहीं, प्रशासन की और से लगाकार लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है, लेकिन ऐसे कारोबारियों की और प्रशासन की कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। यही नहीं, वार्ड नौ में रेहड़ी-फड़ी लगाकर अपना कारोबारी करने वाले यह लोग दशहरा शुरू होने से कुछ समय पहले ही कुल्लू का रुख करते है। इस बार जब जानकारी है कि कारोबार नहीं हो रहा है। आखिर फिर भी क्यों इन्हें कारोबार खुले में करने दिया जा रहा है।

इसे लेकर स्थानीय लोगों में भी भारी रोष है। जिस तरह से बाहरी राज्यों से आकर यह लोग सामान बेच रहे है और उस पर मास्क तक नहीं पहनते है, तो ऐसे क्या कोरोना के फैलने का डर इन्हें नहीं है। शहरवासियों का कहना है कि आखिर ऐसे लोगों पर प्रशासन कब सख्ती से कार्रवाही अमल में आएगा। उधर, शहर में गुबारे बेचने वाले कारोबारी भी बिना मास्क से पूरे शहर में घूम रहे है। यही नहीं, पुलिस जहां इन दिनों बिना मास्क के घूम रहे लोगों के चालान तो काट रही है, लेकिन इन व्यापारियों पर आखिर क्यों शिंकजा नहीं कसा जा रहा है। ऐसे में आम जनता में प्रशासन के प्रति भारी रोष है।

The post Kullu Dussehra 2020: उपायुक्त ने किया रथ मैदान का निरीक्षण, तैयारियां तेज appeared first on Divya Himachal.