Tuesday, January 26, 2021 01:08 PM

कुल्लू को कोरोना मुक्त बनाने की मुहिम

उपायुक्त डा.ऋचा वर्मा ने कहा कि यदि सभी लोग सहयोग करें तो जिला को कोरोनामुक्त बनाया जा सकता है। वह शुक्रवार को जिला के समस्त एसडीएम, बीडीओ और बीएमओ के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग से कोरोना को रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर चर्चा कर रही थी। डा.ऋचा वर्मा  ने कहा कि मुख्यमंत्री ने डीसी व एसपी के साथ हाल ही में हुए सम्मेलन के दौरान अनेक ऐसे दिशा-निर्देश दिए हैं जिन्हें धरातल पर क्रियान्वित करने के लिए सभी अधिकारियों को फील्ड में जाना होगा और एकजुट प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि आगामी 15 दिसंबर तक कोरोना संक्रमण का खतरा सबसे अधिक रहेगा और इस स्थिति से निपटने के लिए सभी प्राइमरी कन्टेक्ट की सैंपलिंग सुनिश्चित बनाने के साथ-साथ आईसोलेशन व क्वारंटाइन के नियमों की लगातार निगरानी करनी होगी।  उन्होंने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय ने सैंपलिंग को लेकर रिपोर्ट मांगी है और अगले दस दिन के दौरान 15 दिसंबर तक जिला से 5000 कोविड-19 टेस्ट करना जरूरी है।

सार्वजनिक समारोहों पर कड़ी निगरानी

कुल्लू।  उपायुक्त कुल्लू ने कहा कि विवाह-शादी, मुंडन, जन्मदिन, मेला अथवा त्योहार व अन्य सार्वजनिक समारोह में केवल 50 लोगों की अनुमति है। ऐसे समारोहों की सूचना संबंधित एसडीएम अथवा तहसीलदार को पांच से दस दिन पहले देना जरूरी है, ताकि किसी प्रकार की उल्लंघना को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि शादी में पूरे दिन केवल 50 ही लोग भाग ले सकते हैं। ऐसा नहीं है कि एक शिफ्टों में 50-50 की संख्या से लोग आएं।  इस पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

स्वेच्छा से सैंपलिंग करवाएं लोग

डा. ऋचा वर्र्मा ने आम जनमानस से अपील की है कि वे अपना कोरोना टेस्ट करवाने के लिए स्वेच्छा से आगे आएं और दूसरों को भी प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि बेशक व्यक्ति स्वस्थ दिखता है, लेकिन हो सकता है कि वह किसी के संपर्क में आने से पॉजिटिव होकर घूम रहा हो। इससे न केवल अपने आप को बल्कि अपने प्रियजनों को भी वह खतरे में डाल सकता है।

The post कुल्लू को कोरोना मुक्त बनाने की मुहिम appeared first on Divya Himachal.