Sunday, December 06, 2020 03:30 AM

लाखों का सामान पल भर में राख, दाड़लाघाट में बेकाबू लपटों ने दिए 10 लाख के जख्म

ग्राम पंचायत दाड़लाघाट के स्यार गांव  में 70 वर्षीय सावित्री देवी पत्नी स्वर्गीय देवीराम के मकान में रात को अचानक आग लग गई। इससे 10 लाख रुपए का घरेलू सामान आग की भेंट चढ़ गया। जानकारी के अनुसार 70 वर्षीय सावित्री देवी तथा उसका 20 वर्षीय पोता मकान की निचली मंजिल में सो रहे थे। रात के लगभग 11 बजे ऊपर की मंजिल में आग लग गई। कुछ स्थानीय लोग जब वहां से गुजर रहे थे तो उनकी नजर मकान से निकलते हुए धुएं पर पड़ी। उन्होंने समीप जाकर दरवाजा खटखटाया और दादी-पोता दोनों को जगाया। शोर सुनकर गांव के लोग इकट्ठे हो गए। अंबुजा सीमेंट कंपनी की फायर ब्रिगेड को फोन कर बुलाया गया, जिन्होंने शीघ्र ही आग पर काबू पा लिया। पंचायत प्रधान सुरेंद्र शुक्ला ने बताया कि उनके मकान के ऊपर की मंजिल की खिड़कियां, दरवाजे, फर्नीचर, घर का लाखों का सामान पूरी तरह जलकर राख हो गया है। आग लगने का कारण बिजली का शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। पटवारी के अनुसार 10 लाख तक का नुकसान हो चुका है।

लड़भडोल में एचआरटीसी की बस में लगी आग

लड़भडोल  – सोमवार को बैजनाथ से सांडापतन रूट पर जा रही एचआरटीसी बस में घटोड़ के समीप अचानक आग लगने से हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार एचआरटीसी बस (एचपी 53 3610) सुबह बैजनाथ से सांडापत्तन जा रही थी कि करीब पौने दस बजे अचानक से घटोड़ के पास इंजन में आग लग गई। ड्राइवर ने सूझबूझ से इंजन में लगी आग पर मिट्टी फेंककर आग पर काबू पाया तथा सवारियों को सुरक्षित बाहर निकाला। एचआरटीसी क्षेत्रीय प्रबंधक बैजनाथ कुलदीप कुमार ने ने बताया कि मौके पर इलेक्ट्रिशियन भेज दिए गए। उन्होंने बताया कि शॉर्ट सर्किट होने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

फ्रिज, मिठाइयां, पशुओं का चारा…सब स्वाह

दिव्य हिमाचल टीम- ऊना, कांगड़ा

सर्दियां शुरू होने के साथ ही प्रदेश में आग लगने की घटनाओं में भी वृद्धि होने लगी है। सोमवार को प्रदेश में चार जगह आग लगने के समाचार प्राप्त हुए हैं। इनमें सबसे पहले ऊना के दौलतपुर चौक में एक दुकान में आग लगने करीब पांच लाख का नुकसान हो गया, वहीं कांगड़ा के गगल और फतेहपुर में गोशालाएं बेकाबू लपटों की चपेट में आ गईं। इसके अलावा जवाली में एक मोबाइल टॉवर में भी अचानक आग लग गई। जानकारी के अनुसार ऊना के दौलतपुर चौक क्षेत्र के मरवाड़ी बाजार में रविवार रात्रि अचानक आग लगने से एक हलवाई की दुकान जल कर राख हो गई। आग की घटना में लगभग चार से पांच लाख रुपए का नुकसान होने का अनुमान है। फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चला है। स्थानीय लोगों के सामूहिक प्रयासों ने एक बड़ा अग्निकांड होने से बचा लिया, अन्यथा आग आस पास की दुकानों एवं घरों तक भी पहुंच सकती थी। आग की चपेट में  आने से चार फ्रिज, मिठाइयों सहित बर्तन, नकदी एवं फर्नीचर इत्यादि सामान जल कर राख हो गया।

इस मौके पर विधायक राजेश ठाकुर ने फौरी तौर पर पीडि़त दुकानदार को 25 हजार की सहायता राशि प्रदान की, जबकि मौके पर  पहुंचे नायब तहसीलदार घनारी कैलाश चंद्र को नुकसान की रिपोर्ट शीघ्र विभाग को भेजने के निर्देश दिए। इसके अलावा कांगड़ा में शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के अंर्तगत गांव रछियालु में एक गोशाला में अचानक  आग भड़क गई। बताया जा रहा है कि गोशाला में घास के सिवाय कुछ नहीं था। दमकल विभाग ने कड़ी मशक्कत के बाद लपटों पर काबू पाया। आग किन कारणों से लगी, पुलिस इसकी जांच कर रही है। उधर, जिला के विकास खंड फतेहपुर की ग्राम पंचायत हाड़ा के निवासी अतर सिंह की गोशाला में रविवार शाम अचानक आग लग गई। अग्निशमन की टीम ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाया, लेकिन जैसे ही कर्मचारी वापस गए कि कुछ देर बाद आग फिर से सुलग उठी। गोशाला में भड़की आग से घास सहित हजारों रुपए का सामान जलकर राख हो गया। दमकल विभाग के कर्मचारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद साथ लगते घरों को जलने से बचाया।

पट्टा जाटियां में भड़का मोबाइल टावर

कांगड़ा के जवाली में गांव पट्टा जाटिया में रविवार रात एक मोबाइल कंपनी के टावर में  आग लग गई। इसकी सूचना अग्निशमन केंद्र जवाली व नूरपुर में दी गई। आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद लपटों पर काबू पाया गया। अग्निशमन विभाग जवाली के इंचार्ज अजय कुमार ने बताया कि अग्निकांड में पांच हजार रुपए के नुकसान का आकलन किया गया है। अगर आग पर समय रहते काबू न पाया जाता तो नुकसान ज्यादा हो सकता था।

The post लाखों का सामान पल भर में राख, दाड़लाघाट में बेकाबू लपटों ने दिए 10 लाख के जख्म appeared first on Divya Himachal.