Sunday, May 09, 2021 06:59 PM

हिमाचल प्रदेश में लॉकडाउन लगाने को केंद्र की झंडी का इंतजार

 मुख्यमंत्री ने दिए और कड़ी बंदिशें लगाने के संकेत

 कल कैबिनेट बैठक में लिए जा सकते हैं कड़े फैसले

मस्तराम डलैल — शिमला

हिमाचल प्रदेश में लॉकडाउन के लिए राज्य सरकार केंद्र से हरी झंडी मिलने के इंतजार में है। हालांकि मुख्यमंत्री ने संक्रमण प्रभावित कुछ जिलों में और कड़ी बंदिशों के संकेत दिए हैं। इसके अलावा पांच मई को मंत्रिमंडल की बैठक भी बुला ली गई है। पुख्ता सूचना के अनुसार राज्य सरकार ने दो सप्ताह के लिए कड़ी बंदिशों का प्लान तैयार कर लिया है। इसमें तीन बड़ी शर्तें प्रस्तावित हैं। प्रदेश की सभी दुकानों, मार्किट, मॉल सहित व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कर दिया जाए। दूसरा प्रस्ताव सभी सरकारी, निगम-बोर्ड और सार्वजनिक उपक्रम के दफ्तरों में तालाबंदी कर दी जाए।

 तीसरा प्रोपोजल प्रदेश की सीमाओं पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाते हुए सिर्फ आरटी-पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट के आधार पर ही एंट्री दी जाए। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में रविवार को ओकओवर में बुलाई गई उच्च स्तरीय बैठक में यह प्रस्ताव तैयार कर लिया गया था। ऐन मौके पर दिल्ली से हुए इशारे के बाद ये तैयारियां धरी की धरी रह गईं। हालांकि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर खुद कड़ी बंदिशों के हक में हैं। इसके अलावा कुछ जिलों के डीसी भी लॉकडाउन का आग्रह कर रहे हैं। बताते चलें कि सोमवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने चंबा में भी और कड़ी बंदिशों के संकेत दिए हैं। सीएम मंगलवार को कोरोना त्रस्त प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा में कोविड प्रबंधों की समीक्षा के लिए रवाना होंगे। हालांकि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोविड के हालातों के मद्देनजर बुधवार को कैबिनेट बैठक बुलाई है। इसमें बोर्ड परीक्षाओं पर फैसला संभावित है। खासकर दसवीं के छात्रों को प्रोमोट करने के प्रस्ताव पर कैबिनेट में मुहर लग सकती है। कोविड बंदिशों को लेकर भी मंत्रिमंडल में गहन चर्चा के बाद कुछ बड़े फैसलों के आसार है।