मखमली आवाज से घुमारवीं के सौरभ बालीवुड में छा जाने को बेताब, लॉकडाउन में भी कर रहे कड़ी मेहनत

बिलासपुर — प्रदेश के अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल’ के इवेंट ‘हिमाचल की आवाज’ के फाइनलिस्ट रहे घुमारवीं के नसवाल गांव के सौरभ बॉलीवुड में प्ले बैक सिंगर बनना चाहते हैं। सौरभ स्वामी विवेकानंद कालेज घुमारवीं (कल्लरी) में अपनी अंतिम वर्ष की शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। सौरभ  ‘हिमाचल की आवाज’  में न केवल जूनियर वर्ग बल्कि सीनियर वर्ग में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। सौरभ ने वर्ष 2014 में हिमाचल की आवाज’ इवेंट में भाग लिया। इसमें सौरभ इवेंट के फाइनलिस्ट रहे। लगातार संगीत की दुनिया में छा जाने को लेकर कड़ी मेहनत की। इसके बाद सौरभ को वर्ष 2019 में हिमाचल की आवाज’ इवेंट में भाग लेने का मौका मिला, लेकिन इस समय उन्होंने इस इवेंट के जूनियर वर्ग नहीं, बल्कि सीनियर वर्ग में अपनी प्रतिभा दिखाई और इवेंट के फाइनलिस्ट रहे। फाइनलिस्ट रहकर उन्होंने अपने गांव, जिला के अलावा अपने माता-पिता का नाम रोशन किया है। सौरभ के पिता कुलदीप चंद फोटोग्राफर- वीडियो डायरेक्टर और माता सपना वर्मा निजी स्कूल में शिक्षक है।

बकौल, सौरभ दिव्य हिमाचल का ‘हिमाचल की आवाज’ इवेंट संगीतकारों के लिए एक बेहतर मंच हैं। इस मंच का सदुपयोग कर संगीतकार यहां के माध्यम से अपना भविष्य संवार सकते हैं। करियर की शुरुआत करने के लिए यह बेहतर मंच है, जिसके चलते संगीतकारों को इस मंच का लाभ उठाना चाहिए। हालांकि अभी तक कोरोना महामारी का कहर चल रहा है। वहीं, लॉकडाउन के दौरान भी सौरभ ने संगीत का अभ्यास किया। इस दौरान सौरभ को कई जगह से अपना गीत लाइव करने का भी मौका मिला।

लॉकडाउन का अनुभव उनके लिए बेहतर रहा। इसमें इन्होंने अपनी शिक्षा के साथ-साथ संगीत पर ही ध्यान केंद्रित रखा। युवा संगीतकारों को उन्होंने संदेश दिया है कि यदि आप में संगीत की प्रतिभा है और उसका आप प्रयोग करना चाहते हैं तो अपने अंदर झांक कर देंखे, साथ ही अपना एक लक्ष्य निर्धारित करें और लक्ष्य के अनुसार उसके लिए कड़ी मेहनत में जुट जाएं।

सौरभ का कहना है कि ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप की ओर से युवा संगीतकारों को जो मंच मुहैया करवाया जा रहा है वह एक बेहतर मंच है। उन्होंने कहा कि यह मंच खासकर ग्रामीण स्तर की प्रतिभा को निखारने में बेहतर साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि अधिकतर इससे पहले ग्रामीण स्तर की प्रतिभा को इस तरह के मंच का प्रयोग करने का मौका नहीं मिल पाता था, लेकिन जब से दिव्य हिमाचल द्वारा ‘हिमाचल की आवाज’ इवेंट शुरू किया गया है तब से ग्रामीण स्तर की प्रतिभा के साथ ही शहरी प्रतिभा को एक साथ मौका मिल रहा है। इस इवेंट का लाभ अब संगीतकारों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इस इवेंट को शुरू करने के लिए ‘दिव्य हिमाचल’ का आभार भी जताया है।

The post मखमली आवाज से घुमारवीं के सौरभ बालीवुड में छा जाने को बेताब, लॉकडाउन में भी कर रहे कड़ी मेहनत appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.

Related Stories: