Tuesday, November 30, 2021 07:59 AM

मैहरी-काथला सिंचाई जल योजना बनी शोपीस

निजी संवाददाता-बम्म उपमंडल घुमारवीं की उठाऊ सिंचाई जल योजना मैहरी-काथला पिछले पांच सालों से शोपीस बनकर रह गई है। जिसके चलते किसानों को फसल उगाने, बीजने व पैदावार को बढ़ाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विभाग व सरकार भी इस योजना के रखरखाव व मरम्मत कार्य को लेकर कोई उचित कदम नहीं उठा रही है। जिससे किसानों में सरकार व विभाग के प्रति गहरा रोष व्याप्त है। उक्त योजना से पांच गांवों काथला, खसरी, लुहणू छपरोह व पल्ली परनाल के किसानों की 500 एकड़ भूमि के लिए पानी मुहैया होता था। अब इन किसानों को भारी भरकम खर्च करने के बावजूद भी फसल से कोई लाभ नहीं हो रहा है तथा आसमान की तरफ देखकर किसानों को निराश होना पड़ता है। ठेकेदार आधा अधूरा काम छोड़कर भाग चुका है तथा विभागीय लापरवाही का खामियाजा किसानों, बागबानों को भुगतना पड़ रहा है। किसानों की दोगुनी आय का सपना दिखाने वाली सरकार भी बिन आइने के मुंह दिखा रही है। ऐसे में प्रदेश सरकार व विभाग के प्रति किसानों में भारी रोष व्याप्त है।

क्षेत्र के किसानों विमला देवी, निर्मला देवी, संतोष कुमारी, प्रकाशो देवी, मनशा राम, रतन लाल, सुरेंद्र कुमार, धर्म चंद, अमरनाथ, मनोरमा देवी, मती देवी, कर्मी देवी, वीना देवी, राकेश कुमार, दीप कुमार, अशोक कुमार, रविंद्र शर्मा, बिहारी लाल, सुंका राम, जगरनाथ, कमला देवी, महिंद्र कुमार, रूपलाल, मनोज कुमार, कमलेश कुमार, मुनशी राम, हंसराज, ज्ञान चंद, विद्या देवी, भगवान दास, कमलेश कुमार, माधो राम व रोशन लाल आदि ने बताया कि पिछले लगभग चार साल से मैहरी काथला सिंचाई जल योजना ठप होने के कारण शोपीस बनी हुई है। उन्होंने बताया कि न तो इस पर चौकीदार, हेल्पर व पंप आपरेटर तैनात किया गया है और न ही इसके सुधार व पुनर्निर्माण के प्रति विभाग गंभीर है। लोगों ने सरकार व विभाग के उच्चधिकारियों से इसके सुधार व मरम्मत कार्य करके स्टाफ नियुक्त कर शीघ्र खेतों के लिए पानी पहुंचाने की मांग की है। उधर, इस बारे में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, जल शक्ति विभाग के सदर बिलासपुर मंडल में तैनात अधिशाषी अभियंता आरके वैद्य ने बताया कि पिछले ठेकेदार के टेंडर रद्द हैं तथा अब नए सिरे से इस योजना के टेंडर जल्द आवार्ड किए जाएंगे। इसके अलावा कुएं, पंप हाउस व पंप मोटरों को ठीक करवाया जाएगा तथा ठेकेदार से पुनर्निर्माण का शेष कार्य शीघ्र पूरा करवाया जाएगा।