Tuesday, September 29, 2020 03:11 AM

मानसून धीमा, पर जख्म गहरे

शिमला – हिमाचल प्रदेश में बेशक मानसून धीमी रफ्तार से चल रहा है, फिर भी बारिश ने लोक निर्माण विभाग को करोड़ों रुपए की चपत लगाई है। राज्य में बारिश से अब तक लोक निर्माण विभाग को 11468.81 लाख के नुकसान का आकलन लगाया गया है। शिमला जोन में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। कांगडा व मंडी जोन में भी लोक निर्माण विभाग को भारी नुकसान पहंचा है। लोक निर्माण विभाग के अनुसार शिमला जोन में सबसे ज्यादा 3124.71 लाख का नुकसान हुआ है। इसके अलावा कांगड़ा जोन में 2839.47, मंडी जोन में 2387.09, हमीरपुर में 2133.04 और एनएच को 984.30 लाख का नुकसान हुआ है।

इसमें शिमला में 386.66 और शाहपुर में 597.64 लाख के नुकसान का आकलन लगाया गया है।  राज्य में बारिश से 48 सडकें यातायात के लिए अवरुद्ध पड़ी हैं। मंडी जोन में सबसे ज्यादा सड़कें बंद हैं। इसमें 24 सड़कें मंडी सर्किल, चार जोगिंद्रनगर और दो सड़कें कु ल्लू सर्र्किल में बंद पड़ी हुई है। शिमला जोन में आठ सडकें बंद पड़ी हुई है। इसमें तीन सड़कें नाहन, दो-दो सड़कें रोहडू व रामपुर और एक सड़क सोलन सर्किल में यातायात के लिए बंद पड़ी हुई है। हमीरपुर सर्किल में कोई भी मार्ग यातायात के लिए बंद नहीं है। कांगड़ा जोन में 10 सड़कें बंद है। इसमें आठ सड़कें डलहौजी सर्किल, एक-एक सड़क पालमपुर और नूरपुर में अवरुद्ध पड़ी हुई है।

164 मशीनें तैनात

राज्य में सड़कों को बहाल करने के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा 164 मशीनें तैनात की गई हैं। इसमें शिमला जोन में 52, मंडी जोन में 26, हमीरपुर में आठ, कांगड़ा में 66 और एनएच को बहाल करने के लिए 12 मशीनें तैनात की गई हैं।

The post मानसून धीमा, पर जख्म गहरे appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.