Friday, September 25, 2020 09:17 AM

नए लुक में दिखेंगी धार्मिक सीढि़यां

भौंण से जोड़ने वाले प्राचीन रास्ते को संवारने के लिए नगर परिषद ने शुरू की कवायद 

कांगड़ा – पुराना कांगड़ा को भौंण से जोड़ने वाले  प्राचीन मार्ग  का पुराना वैभव लौटाने के लिए नगर परिषद कांगड़ा ने कवायद शुरू कर दी है। कांगड़ा शहर बसने से पहले पुराना कांगड़ा के लोग  मां बज्रेश्वरी देवी के मंदिर जाने के लिए इसी रास्ते का प्रयोग करते थे। प्राचीन काल में नगरकोट के नाम से प्रसिद्ध जो वर्तमान में कांगड़ा के नाम से जाना जाता है। इस शहर में शक्तिपीठ के नाम से मां बज्रेश्वरी देवी  का भव्य मंदिर है। इस मंदिर में आने जाने के लिए दो रास्ते हैं। एक अति व्यस्त रास्ता कांगड़ा शहर के बीचोंबीच से होता हुआ और दूसरा पुराना कांगड़ा से सीढि़यों वाला है, मगर यह रास्ता काफी समय से उपेक्षा का शिकार रहा है।

इस रास्ते में बड़े-बड़े पत्थर मिट्टी आ जाने के कारण लगभग  यह पूरी तरह से अवरुद्ध हो चुका है। उचित रखरखाव न होने के कारण यह रास्ता अपना अस्तित्व पूरी तरह से खो ही चुका है। इस रास्ते का पुराना वैभव लौटाने का बीड़ा वार्ड नंबर तीन की पार्षद पुष्पा चौधरी और पुराना कांगड़ा के समाजसेवी सतीश चौधरी ने नगर परिषद अध्यक्षा कोमल शर्मा  के समक्ष रखा। उन्होंने इसके लिए सैद्धांतिक मंजूरी देने के साथ-साथ कार्य भी शुरू करवा दिया करवा दिया। सतीश चौधरी ने बताया कि चार अगस्त 2020 से इन धार्मिक सीढि़यां को ठीक और साफ  करने का कार्य भी शुरू कर दिया गया। इन सीढि़यों का कार्य मनरेगा में कार्यरत स्थानीय कामगार बहुत ही शिद्दत के साथ कर रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई है कि इसके साफ  हो जाने से सभी पैदल चलने वाले आम नागरिक और पर्यटक भी इसी रास्ते पर चलने को प्राथमिकता देंगे। आज कांगड़ा में भी इस सैकड़ों साल पुराने मार्ग के वैभव को लौटने का प्रयास शुरू हुआ है, यह एक अच्छा संकेत है।

The post नए लुक में दिखेंगी धार्मिक सीढि़यां appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.