Tuesday, December 07, 2021 06:12 AM

फ्रांस में पीएचडी करेंगी नैन्सी सागर, नौणी यूनिवर्सिटी की पूर्व छात्रा को मिली फेलोशिप

जी संवाददाता— नौणी

डा. यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी की पूर्व छात्रा नैन्सी सागर ने फ्रांस से पीएचडी करने के लिए फेलोशिप हासिल की है। नैन्सी फ्रांस पहुंच गई है और आईएनआरएई फेलोशिप के तहत ऑरलियंस विश्वविद्यालय से वन आनुवंशिकी में पीएचडी करेगी। फ्रांस का राष्ट्रीय कृषि, खाद्य और पर्यावरण अनुसंधान संस्थान है। नैन्सी ने 2018 में विश्वविद्यालय के कालेज ऑफ हॉर्टिकल्चर एंड फॉरेस्ट्री, नेरी से बीएससी वानिकी और आईसीएआर की नेशनल टेलेंट स्कीम के तहत यूएएस धारवाड़ से फॉरेस्टबायोलॉजी, ट्रीइम्प्रूवमेंट एंड जेनेटिकरिसोर्सेज में एमएससी की है। फ्रांस जाने से पहले नैन्सी नेरी महाविद्यालय में चल रही शोध परियोजना में जूनियर रिसर्च फेलो के रूप में काम कर रही थीं। आईएनआरएई द्वारा फॉरेस्ट जेनेटिक्स में स्कॉलरशिप के साथ पीएचडी के लिए नैन्सी ने आवेदन किया था।

नैन्सी साक्षात्कार में सफल रही और उन्हें ऑरलियंस विश्वविद्यालय में पीएचडी करने के लिए तीन साल के लिए फेलोशिप प्रदान की गई है। उन्हें मेडिकल रिम्बर्समेंट के साथ लगभग 70 लाख रुपए की कुल छात्रवृत्ति मिलेगी। नैन्सी वन ट्रीलार्च प्रजाति पर आधारित परियोजना में काम करेगी। इस परियोजना के तहत पेड़ की वृद्धि के लिए आनुवंशिकी, जीनोमिक्स और शरीर क्रिया विज्ञान में विशेषज्ञता रखने वाले संयुक्त एकीकृत जीव विज्ञान अनुसंधान इकाई के 20 वैज्ञानिकों की टीम के साथ काम करने का मौका मिलेगा। कुलपति डा. परविंदर कौशल ने वेब कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नैन्सी से बात की और बधाई दी।