Saturday, August 15, 2020 04:30 PM

नशा मुक्ति केंद्रों में तीन मौतों से सहमा हिमाचल

सोलन  – हिमाचल प्रदेश के परवाणू प्रवेशद्वार में चल रहे कई नशा मुक्ति केंद्रों में लगातार हुई तीन मौतों से प्रदेश दहल गया है। गत रविवार परवाणू के नशा मुक्ति केंद्र में एक और व्यक्ति की मौत हो गई। परवाणू के तीन नशा मुक्ति केंद्रों में थोड़े-थोड़े अंतराल के बाद हो रही मौतों के मामले में प्रदेश पुलिस के भी हाथ खड़े हो गए हैं। इसके पीछे प्रमुख कारण यह बताया जा रहा है कि पुलिस के पास ऐसी कोई भी धारा नहीं है, जिसमें सीधे तौर पर नशा मुक्ति केंद्र के संचालकों के खिलाफ कार्रवाई कर सके। सोलन जिला के परवाणू में इन केंद्रों में हुई तीन मौतों से मानवीय संवेदनाएं भी तार-तार हुई हैं। प्रदेश पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने इन मामलों पर प्रतिक्रिया देते हुए हालांकि सोमवार को कहा कि ये संस्थान सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग के अंतर्गत आते हैं तथा अब समय आ गया है कि पुलिस, सामाजिक न्याय व अन्य विभाग एक संयुक्त योजना बनाकर इसमें ठोस व त्वरित कार्यवाही करें। प्रदेश में संचालित कई नशा मुक्ति केंद्र एकदम चर्चा में आ गए हैं। परवाणू व धर्मपुर में दो केंद्रों पर ताले जड़े जा चुके हैं। परवाणू में हुई एक मौत के बाद तथा धर्मपुर के नशा मुक्ति केंद्र में नाव भारती विश्विविद्यालय के कुछ दस्तावेजों की प्राप्ति के बाद उन को बंद कर दिया गया था। उसके बाद परवाणू में संचालित एक अन्य केंद्र में व्यक्ति की मौत हुई। बीते रविवार को नशे की लत छुड़ाने के लिए भर्ती एक और व्यक्ति काल का ग्रास बन गया। 38 वर्षीय इस व्यक्ति को दो जुलाई को ही नशामुक्ति केंद्र परवाणू में उपचार हेतु दाखिल करवाया था। पांच जुलाई को नशा मुक्ति केंद्र के स्टॉफ द्वारा इलाज हेतु ईएसआई अस्पताल परवाणू में दाखिल किया था। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गौर रहे कि बीती तीन मई को 2020 में भी पंजाब के तरनतारन निवासी एक युवक की भी मृत्यु संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी, जिसकी जांच भी अभी चल ही रही है। इस संदर्भ में डीजीपी संजय कुंडू ने कहा कि इन नशा मुक्ति केंद्रों की गतिविधियों पर सूक्ष्म रूप से निगरानी करने के लिए पुलिस विभाग, सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग को एक संयुक्त नीति बनानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस की ओर से सामाजिक न्याय विभाग को इससे अवगत करवा दिया गया है। उधर, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने सोमवार को सोलन व परवाणू में अचानक दौरा करके सबको चौंका दिया। उन्होंने कोविड महामारी के दौरान पुलिस व प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने परवाणू बैरियर पहुंचकर पुलिस बल का हौसला बढ़ाया तथा प्रवेशद्वार पर पुलिस द्वारा अपनाए जा रहे मानदंडों की समीक्षा की। डीजीपी संजय कुंडू ने बताया कि अनलॉक-2 के बाद से उत्पन्न स्थिति को परवाणू पुलिस पूरी तरह से नियमों के तहत कार्यवाही कर रही है।

The post नशा मुक्ति केंद्रों में तीन मौतों से सहमा हिमाचल appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.