Tuesday, November 30, 2021 09:04 AM

नवरात्रों की शिक्षा...

शारदीय नवरात्र शुरू हो चुके हैं। अगले नौ दिनों में माता दुर्गा को प्रसन्न करने और मनचाही मनोकामनाएं पूर्ण करने के लिए लोग व्रत भी रखते हैं। नवरात्र का समय आत्मा शुद्धि और प्रकृति को समझने का समय भी है। नवरात्र हमें साधारण खानपान, रहन-सहन, सच्चाई, ईमानदारी, पाप से दूर रहने की शिक्षा भी देते हैं। मां दुर्गा को महामाया के नाम से भी पुकारा जाता है। जबसे सृष्टि की रचना हुई है उसके बाद से अब तक संसार में जो कुछ भी हो रहा है वो सब महामाया दुर्गा की इच्छा से ही हो रहा है। दुर्गा के लिए गरीब-अमीर, राजा और राजा की प्रजा और रंक सब एक बराबर हंै। दुर्गा भक्ति भाव और सेवा भाव से कर्म करने वालों से प्रसन्न होती हैं, न कि धन-दौलत के दिखावे से की जाने वाली पूजा से। नवरात्र काल हमें कई तरह की शिक्षाएं देता है।

-राजेश कुमार चौहान, सुजानपुर टीहरा