Sunday, August 09, 2020 05:27 PM

नयनादेवी में कोरोना के नाश को अनुष्ठान

शक्तिपीठ में माता अन्नपूर्णा की मूर्ति स्थापित, यज्ञ में पूर्णाहुति से वायरस खत्म करने के लिए मां से की प्रार्थना

नयनादेवी-प्रदेश के विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीनयनादेवी में माता अन्नपूर्णा की मूर्ति स्थापित की गई। विधि-विधान  के अनुसार हवन यज्ञ पूर्णाहुति के साथ संपूर्ण अनुष्ठान पूरा किया गया। मंदिर न्यास और पुजारी वर्ग  के संयुक्त सहयोग से पूजा-पाठ और अनुष्ठान किया गया।  विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीनयना देवी मंदिर में पिछले कई दिनों से चल रहा पूजा-पाठ अनुष्ठान बुधवार को माता अन्नपूर्णा की मूर्ति स्थापना के साथ और पूर्णाहुति के साथ संपन्न हो गया। यह अनुष्ठान विशेष रूप से देश और प्रदेश में फैल रही महामारी की रोकथाम के लिए आयोजित किया गया था। इसके साथ ही मंदिर में माता अन्नपूर्णा जी की मूर्ति जो खंडित हो गई थी, उसकी जगह पर नई अन्नपूर्णा माता जी कि मूर्ती की  पुनर्स्थापना की गई। इस दौरान मंदिर में माहौल पूरी तरह से धार्मिक रंग में रंगा नजर आया, क्योंकि श्रद्धालुओं और स्थानीय लोगों को मंदिर में आने पर मनाही है, लेकिन पुजारियों के द्वारा किए गए मंत्रोच्चारण से पूरा मंदिर परिसर भक्ति के रंग में रंगा रहा।  स्थानीय मंदिर के पुजारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए विधिवत रूप से यह अनुष्ठान मंत्रोच्चारण और पूर्णाहुति के साथ पूर्ण किया। माता श्रीनयनादेवी जी और माता अन्नपूर्णा से यह प्रार्थना की गई इस महामारी का  विनाश हो तथा श्रद्धालुओं को माता रानी स्वास्थ्य प्रदान करें एवं फिर से माता के मंदिर खुले और श्रद्धालु यहां मां के दरबार में हाजिरी लगवाने के लिए पहुंचे। स्थानीय पुजारी आशुतोष शर्मा, सचिन शर्मा, आनंद गोपाल शर्मा, अभिषेक शर्मा, भरत शर्मा व अंकुर शर्मा ने बताया कि आने वाले समय में भी समय.समय पर श्रद्धालुओं के कल्याण के लिए विश्व शांति के लिए और महामारी की रोकथाम के लिए इसी प्रकार यज्ञ अनुष्ठान चलते रहेंगे।

 

 

 

The post नयनादेवी में कोरोना के नाश को अनुष्ठान appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.