Thursday, August 06, 2020 06:16 AM

पार्टी चिन्ह पर नहीं होंगे पंचायत चुनाव

बंगाणा – हिमाचल प्रदेश में आगामी पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव पार्टी चिन्ह पर नही होंगे। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार ही पंचायत चुनाव होंगे। यह बात पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर ने मंगलवार को कही। उन्होंने कहा कि पंचायती राज चुनाव लोकतांत्रित तरीके से होंगे। राज्य सरकार पंचायत चुनावों के लिए पूरी तरह से तैयार है। समयबद्ध ही पंचायत चुनावों की प्रक्रिया पूर्ण कर दी जाएगी। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि वर्तमान में देश व प्रदेश में कोरोना महामारी चल रही है। ऐसे में चुनाव प्रक्रिया विशेष सतर्कता व एहतियात बरतते हुए मुक्कमल की जाएगी। कोरोना महामारी के चलते इस समय जनगणना करना संभव नहीं है। इसी के चलते वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार ही चुनाव करवाए जाएंगे। राज्य में चुनाव आयोग ने पंचायत चुनावों को समय पर करवाने की घोषणा कर दी है। इसी के साथ ही प्रदेश में पंचायत चुनाव करवाने की कदमताल शुरू हो गई है। कई लोग चुनावी मैदान में उतरने के लिए उत्सुक हो गए है। पंचायत चुनावों में वार्ड सदस्य, उपप्रधान, प्रधान, बीडीसी सदस्य और जिला पार्षद सदस्य पांच प्रत्याशी मैदान में होते है। ऐसे में अब लोग घरों में बैठकर यहीं क्यास लगा रहे है कि कौन प्रत्याशी मैदान में होगा और हमारा मुकाबला किस प्रत्याशी के साथ होगा। हर गली, हर घर, हर बाजार में पंचायत चुनावों की चर्चाएं शुरू हो गई है। बता दें कि पंचायत चुनावो को करवाने के लिए चुनाव आयोग के साथ सरकार भी पूरी तरह से तैयार है। पंचायत चुनावों में दिलचस्पी रखने वाले नेता प्रत्याशी अब अपने समर्थकों सहित गुना भाग करने में जुट गए है।

हर पंचायत का रोस्टर बदलेगा

चुनावों में 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होगी। वहीं 15 पंचायती सीटें ओबीसी वर्ग के लिए तथा एसटी के लिए आरक्षित होगी। प्रदेश की 3226 पंचायतों में हर पंचायत में आबादी के मुताबिक आरक्षण मिलेगा। हर पंचायत का रोस्टर बदला जाएगा।

The post पार्टी चिन्ह पर नहीं होंगे पंचायत चुनाव appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.