Friday, November 27, 2020 04:54 PM

पांच साल में डेढ़ करोड़ से बदली पलौहड़ा पंचायत की तस्वीर

पंचायत… पलौहड़ा

ब्लॉक…  नगरोटा सूरियां

प्रधान… साहनी देवी

आबादी… 2500

कुल वार्ड … 7

मतदाता… 2000

जवाली-विधानसभा क्षेत्र जवाली के अधीन ग्राम पंचायत पलौहड़ा ने पांच साल में विकास रूपी किताब में नई इबारत लिखी है। पंचायत प्रधान साहनी देवी के नेतृत्व में समस्त पंचायत प्रतिनिधियों ने विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। जवाली शहर के साथ सटी पलौहड़ा पंचायत में जाने पर शहरी पंचायत में घूमने का अनुभव होता है। सात वार्डों वाली पंचायत पलौहड़ा की आबादी 2500 है, जिसमें करीबन 2000 वोटर हैं। पंचायत की अधिकतर गलियां पेवर्स टाइल लगाकर तथा सीमेंट लगाकर पक्की की गई हैं। हर मोहल्ले की निकासी नाली व रास्ते सीमेंटेड बने हुए हैं।

रास्ते व अंडरग्राउंड निकासी नालियां पक्की हैं। पंचायत में सीवरेज व्यवस्था की गई है जिस कारण हर तरफ साफ. सफाई दिखती है। सीवरेज व्यवस्था होने के कारण तिलभर भी गंदगी कहीं नहीं दिखती है। हर कोई पंचायत के विकास को देखकर दंग रह जाता है। पंचायत के प्रधान पद पर आसीन साहनी देवी ने अपनी दूरगामी सोच व संपर्क सूत्रों का लाभ उठाते हुए पंचायत में विकास के लिए भरपूर बजट उपलब्ध करवाया है। अपने कार्यकाल में पंचायत में करीबन एक करोड़ 40 लाख रुपए का बजट विकास कार्यों पर खर्च किया गया है, जबकि लाखों के विकास कार्य चल रहे हैं। पंचायत में करीबन 350 जॉब कार्ड धारक हैं, जिनको मनरेगा के तहत रोजगार दिया गया। हर पंचायतवासी व जॉब कार्डधारक पंचायत प्रधान साहनी देवी की सोच व विकास के जज्बे से काफी खुश है। हर जॉब

कार्ड धारक को समय-समय पर रोजगार दिया गया।

पांच साल की उपलब्धियां

-100 लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन

-मुख्यमंत्री आवास योजना से छह घरों का निर्माण

-पंचायत के 350 लोगों को जॉब कार्ड जारी

-15 एलईडी लाइट्स से दूर हुआ गलियों का अंधेरा

-पानी की पक्की निकासी नालियां

-पंचायत में सीवरेज की व्यवस्था

-पंचायत में ग्रामीणों को सरकार की हर तरफ से हर सुविधा

-हर ग्रामीण को मनरेगा में मिला रोजगार

पंचायत में मनरेगा पर 80 लाख रुपए का बजट खर्च

पिछले पांच सालों के दौरान 2500 आबादी वाली पंचायत में मनरेगा के तहत करीबन 80 लाख रुपए तथा 14वें वित्ता आयोग के तहत करीबन 60 लाख रुपए विकास कार्यों पर खर्च किए गए हैं। इसमें से अधिकांश राशि गलियों व नालियों के निर्माण व बेहतर रखरखाव पर खर्च की गई। पंचायत में वाटरशैड परियोजना के तहत पानी की कमी को दूर करने के लिए करीबन 60 वाटरटेंक बनवाए गए हैं, जबकि कुछ का कार्य निर्माणाधीन है।

पंचायत के सभी वार्डों में विकास कार्य जोरों पर

पंचायत प्रधान साहनी देवी ने बताया कि उन्होंने पंचायत प्रधान के रूप में अपने कार्यकाल में पूरी पंचायत के विकास के लिए कार्य किया है। पंचायत के विकास के लिए प्रदेश सरकार के साथ बेहतर तालमेल स्थापित करके उन्होंने विकास कार्यों को अधिमान दिया। उन्होंने कहा कि जब-जब भी बजट की जरूरत पड़ी तब-तब डिमांड करके जिलाधीश या ब्लॉक से पैसा लिया गया। उन्होंने कहा कि अभी भी लाखों रुपए के विकास कार्य चल रहे हैं। पांच साल में पंचायत की दशा व दिशा दोनों को ही बदला गया है। उन्होंने कहा कि आगे भी निरंतर इस पर कार्य जारी रहेगा।

The post पांच साल में डेढ़ करोड़ से बदली पलौहड़ा पंचायत की तस्वीर appeared first on Divya Himachal.