Thursday, March 04, 2021 02:42 PM

पीजी की परीक्षाएं अगले महीने; पहले, तीसरे व पांचवें सेमेस्टर की जल्द जारी होगी अधिसूचना

एजेंसियां — नई दिल्ली

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, एनआईटी, ट्रिपल आईटी व जीएफटीआई के यूजी इंजीनियरिंग कोर्सेस में एडमिशन के लिए ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम एडवांस्ड 2021 की घोषणा कर दी गई है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने परीक्षा की तारीख और एलिजिबिलिटी क्राइटीरिया की जानकारी दी है। यह परीक्षा तीन जुलाई 2021 को आयोजित की जाएगी। इस बार आईआईटी खड़गपुर इस परीक्षा का आयोजन करेगा।

जल्दी ही जेईई एडवांस्ड 2021 की वेबसाइट लांच कर दी जाएगी। कोविड-19 के विषम परिस्थितियों के कारण इस साल जेईई एडवांस्ड में स्टूडेंट्स को राहत दी गई है। शिक्षा मंत्री निशंक ने बताया कि इस साल जेईई एडवांस्ड में शामिल होने के लिए 75 फीसदी अंकों की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। पहले जेईई एडवांस्ड की परीक्षा में शामिल होने के लिए स्टूडेंट्स के पास कक्षा 12वीं बोर्ड में न्यूनतम 75 प्रतिशत अंक होना जरूरी था।

जेइई मेन्स इस बार साल में चार बार

इस बार से जेईई मेन्स की परीक्षा साल में चार बार कर दी गई है। यह परीक्षा फरवरी से मई तक करवाई जाएगी। स्टूडेंट्स अपनी सुविधानुसार इनमें से एक या सभी परीक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। जिस परीक्षा में उन्हें सबसे ज्यादा अंक मिलेंगे, उसी के आधार पर फाइनल मैरिट लिस्ट में उन्हें रैंक मिलेगी। फाइनल मैरिट में टॉप 2.50 लाख में आने वाले स्टूडेंट्स को जेईई एडवांस्ड में शामिल होने का मौका मिलेगा।

कई बोर्ड की सिलेबस कटौती के चलते फैसला मेन्स के लिए अंकों में छूट देने की सिफारिश

कोरोना के कारण पढ़ाई को हुए नुकसान को देखते हुए सीबीएसई समेत दूसरे केंद्रीय और राज्य बोर्ड ने परीक्षा के सिलेबस में 30 फीसदी तक की कटौती की है। साथ ही स्कूल और कोचिंग इंस्टीट्यूट बंद होने की वजह से भी कैंडिडेट्स को तैयारी में परेशानी हो रही है। ऐसे में कैंडिडेट्स ने सोशल मीडिया के जरिए शिक्षा मंत्री से एडमिशन के लिए तय एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया में छूट देने की गुजारिश की थी। साथ ही उन्होंने जेईई मेन्स के लिए 12वीं में 75 फीसदी अंक के क्राइटेरिया में छूट की गुजारिश की थी।

सिटी रिपोर्टर — शिमला

एचपीयू में पोस्ट ग्रेजुएट करने वाले छात्रों की परीक्षा अब फरवरी माह में आयोजित होगी। इससे पहले नवंबर में ये परीक्षाएं आयोजित हो जाती थीं, लेकिन अब हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में चल रहे पीजी कोर्सेज के पहले, तीसरे व पांचवे सेमेस्टर की परीक्षाएं फरवरी माह से शुरू करने की तैयारी है। कोरोना महामारी के कारण इस बार ये परीक्षाएं देरी से शुरू हो रही हैं। पूर्व में जहां इन सेमेस्टर की परीक्षाएं नवंबर माह में शुरू हो जाती थीं, लेकिन इस बार परीक्षाओं के आयोजन में देरी हुई है। इन परीक्षाओं के दृष्टिगत हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय जल्द अधिसूचना जारी करेगा।

सूचना के अनुसार इन परीक्षाओं के लिए ऑनलाइन परीक्षा फार्म भरने की प्रक्रिया 15 जनवरी के बाद शुरू होगी। वर्तमान स्नातक स्तर की प्रथम, तृतीय व 5वें  सेमेस्टर रैगुलर/रिअपेयर परीक्षाओें के दृष्टिगत परीक्षा फार्म भरने की प्रक्रिया चल रही है और 15 जनवरी तक यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन स्नातकोत्तर कोर्सेज की परीक्षाओं के लिए परीक्षा फार्म भरने के लिए आवेदन मांगेगा। ऑनलाइन आवेदन फार्म भरे जाने के बाद विश्वविद्यालय इन परीक्षाओं की डेटशीट जारी करेगा। कोरोना महामारी के कारण इस बार शैक्षणिक सत्र देरी से शुरू हुआ। इस वजह से नवंबर-दिसंबर में पी.जी. कोर्सेज की प्रथम, तृतीय व पांचवें सैमेस्टर की परीक्षाएं आयोजित नहीं हो पाई और उस समय प्रवेश प्रक्रिया चल रही थी। आमतौर पर प्रवेश प्रक्रिया जून-जुलाई में पूरी हो जाती थी, लेकिन इस बार इसमें काफी देरी हुई। स्नातक स्तर के छात्रों के लिए परीक्षा फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 15 जनवरी निर्धारित की है। इसके बाद विश्वविद्यालय पी.जी. कोर्सेज की परीक्षाओं के लिए ऑनलाईन परीक्षा फॉर्म भरने भरवाएगा।