Saturday, August 08, 2020 05:41 PM

फीस का हिसाब-किताब दें निजी स्कूल

हिमाचल प्रदेश अभिभावक संघ की शिकायत के बाद शिक्षा विभाग ने जारी किए निर्देश, शिक्षा उपनिदेशकों को भेजा पत्र

घुमारवीं – प्रदेश भर के निजी स्कूलों द्वारा कोरोना वायरस के खतरे के चलते लगे लॉकडाउन के दौरान ली गई फीस का सारा ब्यौरा शिक्षा विभाग को देना होगा। विभाग ने इस बाबत निर्देश जारी कर दिए हैं। हिमाचल प्रदेश अभिभावक संघ के माध्यम से निजी स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वसूलने की शिकायत मिलने के बाद शिक्षा निदेशालय ने यह निर्देश जारी किये हैं। इस बारे में शिक्षा निदेशालय द्वारा प्रदेश के सभी शिक्षा उपनिदेशकों को पत्र भेजा गया है। जिनके माध्यम से निजी स्कूलों से वर्ष 2019-20 और वर्ष 2020-21 में वसूली गई फीस का सारा ब्यौरा मांगा है। शिक्षा निदेशालय द्वारा निजी स्कूलों को सिर्फ ट्यूशन फीस लेने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन, प्रदेश भर से निजी स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वसूलने की शिकायतें आ रही थी। इसके चलते हिमाचल प्रदेश अभिभावक संघ ने इस बारे शिक्षा निदेशालय को शिकायत भेजी थी। जिसके बाद निदेशालय की ओर से प्रदेश के सभी शिक्षा उपनिदेशकों को पत्र भेजा गया है कि सभी निजी स्कूलों से फीस के बारे में सारी जानकारी मांगी जाए। अभिभावकों का आरोप है कि सरकार द्वारा निर्धारित किए गए नियमों के अनुसार कुछ निजी स्कूल उनके नियमों की पालना नहीं कर रहे है। हालांकि, शिकायत पत्र में किसी स्कूल का नाम नहीं लिखा गया है। लेकिन, विभाग अपने स्तर पर यह सारी जानकारी जुटा रहा है कि कौन स्कूल अभिभावकों से स्कूल फीस मांग रहा है। इसके बारे में जानकारी मिलने के बाद शिक्षा विभाग द्वारा आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। जिला बिलासपुर में 853 निजी स्कूल हैं। इनमें से 142 प्रारंभिक शिक्षा, 36 माध्यमिक पाठशाला व 15 वरिष्ठ निजी स्कूल है। इन सभी स्कूलों का फीस आंकड़ा मंगवाया गया है। जांच के दौरान अगर कोई स्कूल प्रबंधन दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ  कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

The post फीस का हिसाब-किताब दें निजी स्कूल appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.