Tuesday, April 13, 2021 10:40 AM

पिकअप से पकड़े खैर के मोच्छे

नगर संवाददाता-ऊना सरकार ने बजट में 2555 एसएमसी अध्यापकों के साथ ५०० रुपए मानदेय में वृद्धि करके भद्दा मजाक किया हैं, जोकि बहुत ही निराशाजनक हैं। यह बात एसएमसी अध्यापक स्टेट यूनियन के मीडिया प्रभारी और ऊना यूनियन के प्रधान अनवर खान, उपप्रधान नवदीप कुमार, महासचिव चंद्रमोहन, सचिव पंकज, को-ऑर्डिनेटर एडवाइजर सतीश, मीडिया प्रभारी दिनेश, सह-सचिव मुकेश, कैशियर प्रवेश कुमारी, एडवाइजर पूनम, अंजना, मोनिका द्विवेदी ने कही।

उन्होंने कहा कि एसएमसी अध्यापकों को सरकार से उम्मीद थी कि सरकार बजट में 2555 एसएमसी अध्यापकों के लिए पीटीए, पैट, पैरा और पंजाबी व उर्दू अध्यापकों की तर्ज पर स्थाई नीति बनाएगी। लेकिन सरकार ने 500 रुपये बढ़ा कर एसएमसी अध्यापकों के साथ मजाक किया हैं। अब इसको लेकर एसएमसी अध्यापक जल्दी राज्यस्तरीय बैठक करेंगें। तथा सड़कों पर उतरने से भी परहेज नही करेंगें। एसएमसी अध्यापक पिछले 09 बर्षों से हिमाचल प्रदेश के विभिन्न स्कूलों में कम वेतन और बिना किसी अवकाश के लगातार अपनी सेवाएं दे रहें हैं।

निजी संवाददाता-बरमाणा जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रकाश दरोच ने जानकारी देते हुए बताया कि लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं देने के उदे्श्य से आयुष्मान भारत के तहत 89 हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर जिला बिलासपुर में कार्य कर रहे हैं, जिनमें 38 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों व 51 उप स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर बनाया गया है। हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टरों व स्वास्थ्य उप केंद्रों में कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की तैनाती की गई है। इन सभी हैल्थ एंड वैलनेस सेंटरों में टेली-कंसलटेशन के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर टेली-कलसलटेशन के माध्यम से स्वास्थ्य उप केंद्रों से नजदीकी हेल्थ एंड वैलनेस केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डाक्टर या फिर श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कालेज नेरचैक जिला मंडी में जिस रोग से मरीज ग्रसित है उसके स्पेशलिस्ट डाक्टर को टेली-कलसलटेशन के माध्यम से उस मरीज को बैठे-बैठे ही उपचार उपलब्ध करवाया जाता है। हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर, प्राथामिक स्वास्थ्य केंद्रों में मातृत्व स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों आदि की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

नगर संवाददाता- ऊना जिला ऊना में वरिष्ठ नागरिकों के लिए तथा किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित 45-59 आयु वर्ग के व्यक्तियों के लिए कोविड-19 टीकाकरण शुरू हो गया है। इस बारे जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. रमण कुमार शर्मा ने बताया कि यह टीकाकरण अभियान 30 अप्रैल तक चलेगा। सीएमओ डा. रमण कुमार शर्मा ने बताया कि टीकाकरण के लिए सभी लाभार्थी मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप, कोविन ऐप पर पंजीकरण करना सुनिश्चित करें। टीकाकरण के लिए 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति अपना आधार कार्ड व वोटर कार्ड साथ लेकर आएं तथा गंभीर बीमारियों से ग्रसित 45-59 वर्ष के व्यक्तियों के लिए आधार कार्ड, वोटर कार्ड के साथ-साथ चिकित्सा प्रमाण पत्र भी लाना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि 45-59 वर्ष के मधुमेह तथा उच्च रक्तचाप से ग्रसित व्यक्ति का 10 वर्ष या इससे अधिक समय से पीडि़त होने का प्रमाण पत्र मान्य होगा जो एमबीबीएस या बीएएमएस चिकित्सक द्वारा जारी किया गया हो।

उन्होंने बताया कि यह टीकाकरण क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में प्रत्येक मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार तथा पहले और तीसरे रविवार को किया जाएगा तथा जिला के सभी सिविल अस्पताल अंब, हरोली, बंगाणा, चिंतपूर्णी व गगरेट में प्रत्येक मंगलवार, शुक्रवार तथा पहले व तीसरे रविवार को किया जाएगा। जिला के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों धुसाड़ा, बसदेहड़ा, संतोषगड़, दौलतपुर चैक, दुलैहड़, कुंगड़त, भदसाली, बीटन तथा थानाकलां में प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को टीकाकरण किया जाएगा। जिला के सभी 24 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा सभी 138 स्वास्थ्य उपकेंद्रों में 15 मार्च से 15 अप्रैल तक टीकाकरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 24 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों जिनमें चुरुडू, अकरोट, धर्मशाला महंता, चक सराए, लोहरा, शिवपुर, देहलां, बसोली, चलोला, बसाल, बढेडा राजपूता, मरवाड़ी, अमलेहड़, बाथड़ी, पालकवाह, कुठार बीत, बढेडा, पंजावर, खड्ड, सलोह, सोहारी टकोली, लठियाणी, रायपुर मैदान तथा चमियाडी में प्रत्येक मंगलवार को टीकाकरण किया जाएगा साथ में सभी 138 स्वास्थ्य उपकेंद्रों में प्रत्येक गुरुवार को टीकाकरण किया जाएगा।

कार्यालय संवाददाता- बंगाणा बंगाणा उपमंडल के तहत बल्ह खालसा गांव में ग्रामीणों ने पिकअप में खैर के मोच्छे लेकर जा रहे तीन लोगों को पकड़ा है। जबकि चार लोग चकमा देकर भागने में कामयाब हो गए। पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर उक्त तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि फरार हुए वन काटुओं की तलाश आरंभ कर दी है। पुलिस ने पिकअप ट्राला व खैर की लकड़ी के 66 मोच्छे भी कब्जे में ले लिए हैं। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर तफ्तीश आरंभ कर दी है। उक्त लोग पिकअप ट्राला में 66 खैर के मोच्छे लेकर जा रहे थे। जब ग्रामीणों को इसकी भनक लगी तो उन्होंने मौके पर पहुंचकर तीन लोगों को दबोच लिया, लेकिन चार लोग मौके से फरार हो गए। इसके बाद ग्रामीणों ने सूचना पुलिस व वन विभाग को दी। सूचना मिलते ही पुलिस व वन विभाग की टीमें मौके पर पहुंच गई ओर कार्रवाई आरंभ की।

जब उक्त लोगों से खैर से संबंधित दस्तावेज मांगे गए तो वे कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए। इस पर पुलिस ने खैर की लकड़ी सहित पिकअप वाहन को कब्जे में ले लिया। वहीं आरोपियों को गिरफ्तार कर आगामी कार्रवाई आरंभ की। एसपी अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने खैर की लकड़ी सहित तीन लोगों को पकड़ा है। फरार हुए लोगों की तलाश जारी है। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है।