Sunday, March 07, 2021 05:33 PM

अवाहदेवी के प्रशांत शर्मा फ्लाइंग ऑफिसर

‘दिव्य हिमाचल’ से साझा किया अनुभव, मेहनत के बलबूते पाया बड़ा मुकाम

 दृढ़ संकल्प के साथ शुरू की थी तैयारी, तनाव नहीं होने दिया हावी

मोहिनी सूद — सोलन

भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम) इंदौर ने देश के 20 आईआईएम और चुनिंदा प्रबंध संस्थान में दाखिले के लिए 29 नवंबर को हुए कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) का परिणाम घोषित कर दिया। इसमें हिमाचल प्रदेश के सोलन से विशेष गर्ग ने 99.99 प्रसेंटाइल स्कोर कर प्रदेश को देश भर में गौरवान्वित किया है। इस मौके पर विशेष गर्ग ने ‘दिव्य हिमाचल’ के साथ विशेष बातचीत में कहा कि दृढ़ संकल्प के साथ उन्होंने अपनी कैट की तैयारी शुरू की और उड़ते हुए रंगों में उभर आए।

उन्होंने कहा कि ऐसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते समय, व्यक्ति थोड़ा तनाव में आ जाता है, लेकिन उन्होंने तनाव को अपने ऊपर नहीं आने दिया। उन्होंने कहा कि यदि जिंदगी में सफलता हासिल करनी हो, तो मेहनत बेहद जरूरी है। विशेष गर्ग ने कहा कि जीवन में प्रबंधन बहुत जरूरी है। फिर चाहे किसी संस्था के लिए हो या फिर समय के लिए। प्रबंधन के ऐसे ही गुर सिखाने के लिए कॉमन एडमिशन टेस्ट का आयोजन किया जाता है।

ऐसा है अगला लक्ष्य

कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) में टॉप स्पॉट हासिल करने वाले विशेष ने बताया कि अब वह बंगलूर आईआईएम से एमबीए के इच्छुक हैं या दिल्ली यूनिसर्विटी में पढ़ना चाहते हैं। वह सत्या नडेला और सुंदर पिचई को अपना रोल मॉडल मानते हैं।

माता-पिता की खुशी का ठिकाना नहीं

बेटे की उपलब्धि से विशेष गर्ग के माता-पिता और छोटे भाई गौरान्वित महसूस कर रहे हैं। बंगलूर की कंपनी में बतौर साफ्टवेयर इंजीनियर काम कर रहे विशेष गर्ग ने अपनी जॉब के साथ पढ़ाई जारी रखते हुए ये सफलता हासिल की है। उन्होंने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने माता पिता, गुरुओं व परिजनों को दिया।

निजी संवाददाता — अवाहदेवी

हमीरपुर जिला के अवाहदेवी स्थित मनवी गांव निवासी प्रशांत शर्मा भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर बन गए हैं। इस उपलब्धि से उनके घर और गांव में खुशी का माहौल है। प्रशांत ने बीटेक मैकेनिकल दिल्ली से की है। प्रशांत शर्मा ने बताया कि उनके दादा का सपना था कि वह सेना में जाकर देश की सेवा करें और उन्होंने अपने दादा का सपना पूरा कर लिया है, परंतु दुख है कि दादा इस दुनिया में नहीं है।

 दादी सावित्री देवी को अपने पोते की सफलता पर नाज़ है। वहीं, प्रशांत के पिता राजकुमार और माता रितु शर्मा ने बताया कि प्रशांत शर्मा की शुरू से ही सेना में जाकर देश की सेवा करने की इच्छा थी और उनके दादा का भी यही सपना था। इस मौके पर मनोज शर्मा, विनोद शर्मा, कमलेश शर्मा, पंडित रमेश शर्मा, प्रकाश चंद व राकेश शर्मा इत्यादि ने लोगों ने प्रशांत के परिवार को तहेदिल से बधाई दी है।