Thursday, November 26, 2020 06:10 PM

प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्र प्रोमोट, यूजी स्टूडेंट्स को दी राहत

एचपीयू ने कालेजों के यूजी स्टूडेंट्स को दी राहत

रि-अपीयर वालों के भी नहीं होंगे एग्जाम

प्रदेश सरकार के बाद एचपीयू ने कालेजों में स्नातक की पढ़ाई करने वाले प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्रों को दूसरी कक्षा में प्रोमोट करने पर मंजूरी दे दी है। एचपीयू ने साथ ही फैसला लिया है कि उन छात्रों को भी प्रोमोट किया जाएगा, जिनकी पिछली कक्षा में रि-अपीयर या कंपार्टमेंट है। शनिवार को कुलपति की अध्यक्षता में एचपीयू की कार्यकारी बैठक रखी गई। इस दौरान कई अहम फैसले लिए गए, जिसमें 24 नए शिक्षक भी विश्वविद्यालय को दिए गए। बैठक की अध्यक्षता कुलपति प्रो. सिकंदर कुमार ने की। कार्यकारिणी परिषद ने पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों में प्रवेश के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को दस प्रतिशन स्थान आरक्षित करने की स्वीकृति भी प्रदान की है। हालांकि बैठक में स्नातकोत्तर कक्षाओं के नियमित रूप से शुरू होने को लेकर कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है।

 वहीं, विश्वविद्यालय में किए जाने वाली भर्ती से पूर्व चयन समिति द्वारा किए गए बंद लिफाफों को खोलने के लिए कार्यकारिणी परिषद ने कुलपति को अधिकृत किया है। यानी की भविष्य में अब जब भी कोई भर्ती व साक्षात्कार होंगे, इसके लिफाफे खोलने के लिए कुलपति अधिकृत होंगे। इस बारे में बाद में कार्यकारिणी की बैठक में सूचित करना होगा। इसी की बैठक में वित्त समिति द्वारा स्वीकृत पदों के लिए बनाए गए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों को स्वीकृति प्रदान की, जिनमें विश्वविद्यालय मॉडल स्कूल में अध्यापकों के पद भी शामिल हैं। बैठक में डा़  केके जैन मैमोरियल स्कॉलरशिप को 10 हजार से 25 हजार करने की मंजूरी दी गई है।

 इसी की बैठक में संघ लोक सेवा आयोग आदि प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए संकल्प संस्था के साथ चल रहे कार्य को एक वर्ष के लिए बढ़ाने और वर्तमान कार्यकारिणी सदस्य बिपिन कुमार को वित समिति का सदस्य बनाने की भी मंजूरी दी। इसी ने गैर शिक्षक कर्मचारियों के लिए बनाई गई तबादला नीति को निरस्त करने की स्वीकृति प्रदान की। बैठक में एमबीबीएस/बीडीएस की ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए करवाए गए टेंडर को भी मंजूरी दी है। इसके अलावा केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला से हिंदी में पीएचडी कर रही रीना कुमारी को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में माइग्रेशन की स्वीकृति प्रदान की। बैठक ने शिक्षा विभाग में सहायक आचार्य विवेक नाथ त्रिपाठी की सेवाएं समाप्त करने और वर्ष 2018-19 के वार्षिक प्रतिवेदन और वर्ष 2016-17 के वार्षिक लेखा को स्वीकृति प्रदान की।

The post प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्र प्रोमोट, यूजी स्टूडेंट्स को दी राहत appeared first on Divya Himachal.