Tuesday, June 15, 2021 12:23 PM

निजी बस आपरेटरों को मिल सकती है खुशी, आज होने वाली कैबिनेट से उम्मीदें

एसआरटी-वर्किंग कैपिटल में राहत के आसार, आज होने वाली कैबिनेट से उम्मीदें

कार्यालय संवाददाता—शिमला

हिमाचल प्रदेश के प्राइवेट बस ऑपरेटरों को शुक्रवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक से राहत मिल सकती है। प्रदेश के निजी बस ऑपरेटर हड़ताल पर चल रहे हैं, जो लंबे अतंराल से राज्य सरकार से मांगें पूरी करने की मांग उठा रहे हैं। बीते दिनों के दौरान राज्य सरकार द्वारा भी ऑपरेटरों को आश्वासित किया गया था। ऐसे में शुक्रवार को होने जा रही बैठक से ऑपरेटर बड़ी राहत की उम्मीदें लगा रहे हैं।

 कैबिनेट बैठक में बस ऑपरेटरों को पिछले साल अगस्त से लेकर अब तक का टोकन टैक्स और विशेष रोड टैक्स माफ  या छूट मिलने की संभावना जताई जा रही है, वहीं ट्रांसपोर्ट सेक्टर में भी कम ब्याज पर सरकार ऋण योजना दे सकती है। परिवहन विभाग द्वारा निजी बसों का प्रोपोजल तैयार कर सरकार को भेज दिया गया है, जिस पर मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा के बाद अतिम मंजूरी प्रदान की जाएगी। निजी बस ऑपरेटर एसआरटी माफ करने सहित वर्किंग कैपिटल ग्रांट जारी करने की मांग उठा रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश के  निजी बस ऑपरेटर तीन मई से अभी तक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। उनका कहना है कि निजी बस ऑपरेटर अपनी एसआरटी वह अन्य टैक्स की माफी और दो लाख  प्रति बस वर्किंग कैपिटल की मांग कर रहे हैं। निजी बस ऑपरेटरों का सालाना टैक्स 40 से 45 करोड़ बनता है, जबकि जो अप्रत्यक्ष रूप से टैक्स सरकार को निजी बस आपरेटरों द्वारा दिया जाता है, वह इससे  अनुमानित दोगुना है, जिसके चलते बसें खड़ी होने से राज्य सरकार को भी नुकसान हो रहा है।

आवाजाही पर होगा फैसला

कैबिनेट की बैठक में हिमाचल आने के लिए आरटी-पीसीआर का झंझट समाप्त किया जा सकता है। इसके अलावा पंजीकरण की प्रक्रिया को भी खत्म करने की योजना है। मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लगने के बाद बाहरी राज्यों के लिए प्रदेश से आवाजाही फ्री हो जाएगी।

वर्किंग कैपिटल ग्रांट की मांग

प्रदेश के निजी बस ऑपरेटर दो लाख के वर्किंग कैपिटल ग्रांट की मांग उठा रहे हैं। उनकी डिमाड है कि यह ग्रांट प्रति बस के हिसाब से प्रदान की जाए। इसमें पहले डेढ़ साल किस्त नहीं चुकानी होगी। राज्य सरकार तीन साल तक 75 फीसदी ब्याज चुकाएगी, जबकि 25 फीसदी ऑपरेटरों को देना होगा।

नहीं तो जारी रहेगी हड़ताल

निजी बस आपरेटरों ने चेतावनी दी है कि अगर मंत्रिमडल की बैठक में उनकी मागें पूरी नहीं होती हैं, तो अगामी दिनों में भी उनकी हड़ताल जारी रहेगी।