Tuesday, December 07, 2021 06:11 AM

देसी गाय के संरक्षण- संवद्र्धन को चार करोड़

कार्यालय संवाददाता -हमीरपुर ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज, कृषि और पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि सरकार बेसहारा पशुओं को आश्रय देने के लिए प्राथमिकता के आधार गौसदनों और गौ अभयारण्यों का निर्माण कर रही है। उन्होंने बताया कि गसोता के गौ सदन का निर्माण तीन माह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। सुजानपुर के निकट खैरी में डेढ़ पशुओं की क्षमता की कऊ सेंक्चुरी बनकर तैयार हो गई तथा यहां बेसहारा पशुओं को वहां शिफ्ट किया जा रहा है। आने वाले समय में जिला में कोई भी बेसहारा पशु सड़कों पर नहीं मिलेगा। उन्होंने बताया कि सोलन और सिरमौर जिले को पहले बेसहारा पशु मुक्त बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि देसी पहाड़ी गाय के संरक्षण एवं संवद्र्धन के लिए साढ़े चार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा गाय की अन्य नस्लों के संरक्षण एवं संवद्र्धन के लिए भी ऊना में साढ़े 47 करोड़ की लागत से आधुनिक केंद्र स्थापित किया जाएगा। विधायक नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि क्षेत्र में विकास कार्यों में कोई कमी नहीं रखी जा रही है।

क्षेत्र की सभी पंचायतों का चहुमुखी विकास प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित किया जा रहा है। लंबलू में उपतहसील खोली गई है तथा गसोता में लगभग आठ करोड़ रुपए की लागत से 33 केवी विद्युत सब स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है। क्षेत्र की पेयजल समस्या के स्थायी समाधान के लिए लगभग 38 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि गसोता मंदिर की सराय के लिए पांच लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। कार्यक्रम के दौरान गौसेवा आयोग के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा, जिला भाजपा अध्यक्ष बलदेव शर्मा, कौशल विकास निगम के समन्वयक नवीन शर्मा, महामंत्री हरीश शर्मा, अभयवीर लवली, एपीएमसी के अध्यक्ष अजय शर्मा, जिला परिषद उपाध्यक्ष नरेश कुमार, भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश शर्मा, महामंत्री सुरेश सोनी, अजय रिंटू, महिला मोर्चा अध्यक्ष राजकुमारी, वीना शर्मा, सुमन कपिल, बीडीसी अध्यक्ष रीना देवी, प्रधान सुमन पठानिया, मंदिर कमेटी प्रधान दुनी चंद और अन्य उपस्थित रहे।