Sunday, December 06, 2020 04:00 AM

पुरानी पेंशन बहाली को हल्ला बोल, एनपीएस कर्मचारी महासंघ ने प्रदेश भर में राहत को उठाई आवाज

एनपीएस कर्मचारी महासंघ ने शनिवार को प्रदेश भर में हजारों कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली को लेकर धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान समस्त जिलों के पदाधिकारियों ने उपायुक्त में माध्यम से प्रदेश सरकार को मांगपत्र सौंपा। इसी कड़ी में मंडी जिला में महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप ठाकुर की अगवाई में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने पड्डल मैदान से उपायुक्त कार्यालय तक रैली निकाल पुरानी पेंशन बहाली को लेकर आवाज बुलंद की। इस दौरान महासंघ ने एडीसी के माध्यम से प्रदेश सरकार को ज्ञापन भी भेजा। इस मौके पर प्रदीप ठाकुर ने कहा कि कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के लिए बीते कुछ वर्षों से  प्रयासरत हैं और यह प्रयास तब तक जारी रहेंगे, जब तक कर्मचारियों की पेंशन बहाल नहीं होती। उन्होंने कहा कि नेता चुनाव जीतते ही पेंशन के अधिकारी बन जाते हैं, लेकिन कर्मचारी 30 वर्ष तक सेवा देने के बाद भी पेंशन से वंचित हैं। उन्होंने कहा कि देश में जो यह असमानता का दौर चल रहा है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। इस असमानता को मिटाने के लिए कर्मचारी अब जाग चुके हैं और सरकार जल्द यदि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल नहीं करती, तो भविष्य में कर्मचारी किसी भी हद तक जाने से संकोच नहीं करेंगे।

 प्रदीप ठाकुर ने कहा कि आगामी 12 नवंबर को महासंघ द्वारा 10 हजार से भी अधिक स्थानों पर एक दिन में एक साथ बैठक की जाएगी, सभी कर्मचारी इस आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लेने का संकल्प लेंगे। उसके बाद 24 नवंबर को  प्रदेश के सभी कर्मचारी पेन डाउन स्ट्राइक करेंगे। यदि सरकार तब भी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल नहीं करती, तो आंदोलन को और उग्र किया जाएगा। इस मौके पर महासंघ के जिलाध्यक्ष लेखराज सहित अन्य पदाधिकारियों ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर महासंघ के जिला प्रभारी सुभाष शर्मा, राज्य उपाध्यक्ष भिंदर ठाकुर, अनुशासन कमेटी के मुख्य अरुण, महिला विंग की वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुनीता चौहान, सह प्रचारक वीरेंद्र ठाकुर, जिला महासचिव प्रवीण धीमान, महिला विंग की अध्यक्ष मंजुला वर्मा, महासचिव भारती, कोषाध्यक्ष टेक चंद ठाकुर, सचिव कृष्ण यादव, सह कोषाध्यक्ष पवन ठाकुर, विक्रांत, मंडी सदर के ब्लॉक अध्यक्ष विद्यासागर, सुशील शर्मा, चेतन  ठाकुर, चांद, दुनी चंद, ललित शर्मा, तरुण सैणी, अरविंद, अजय परवारी, अतुल लखनपाल, सतीश भाटिया सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

सरकार भूल गई चुनाव में किया वादा

न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारियों में रोष, पेंशन के लिए प्रदेश भर में किया प्रदर्शन

विशेष संवाददाता — शिमला

राज्य भर में शनिवार को न्यू पेंशन स्कीम के तहत लगे कर्मचारियों ने धरना-प्रदर्शन किया। ये कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली की मांग कर रहे हैं, जो पूरी नहीं हो पा रही है। पूरे राष्ट्र में वर्ष 2003 के बाद लगे कर्मचारियों की यह मांग है, जिसकी बहाली के लिए यहां पर जोर दिया जा रहा है। शनिवार को भी राजधानी शिमला के अलावा जिला मुख्यालयों में न्यू पेंशन स्कीम के तहत लगे कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया और सरकार से 2003 से पहले की पेंशन बहाली की मांग की। हिमाचल में ऐसे हजारों कर्मचारी हैं, जो कि विरोध कर रहे हैं, जिनकी मांग नहीं मानी जा रही। इन कर्मचारियों के साथ चुनाव के समय में वादा भी किया गया था, मगर इसके बाद इस वादे को सरकार भूल गई। केंद्र सरकार ने न्यू पेंशन स्कीम लागू की, जिसे राज्य सरकारों ने भी अपनाया है।

 हालांकि कुछ राज्यों में इसे नहीं अपनाया गया, परंतु हिमाचल प्रदेश में इसे 2006 के बाद ही अपना लिया गया था। इसे 2003 के बाद यहां पर लागू किया गया है। सरकार के खिलाफ इन कर्मचारियों ने शिमला में पंचायत भवन से लेकर जिलाधीश कार्यालय तक प्रदर्शन किया और नारेबाजी की। संघ के अध्यक्ष कुशाल ठाकुर ने कहा कि जब तक सरकार उनकी मांग को नहीं मान लेती, तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। विभिन्न माध्यमों से कर्मचारी अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री तक को ये लोग अपने आग्रह पत्र भेज चुके हैं। इन्होंने पुरानी पेंशन बहाली के लिए अपना संघर्ष जारी रखने का ऐलान किया। इनके साथ कई महिला कर्मचारी भी संघर्ष में शामिल रहीं।

The post पुरानी पेंशन बहाली को हल्ला बोल, एनपीएस कर्मचारी महासंघ ने प्रदेश भर में राहत को उठाई आवाज appeared first on Divya Himachal.