Monday, October 18, 2021 04:54 PM

बारिश... आधा दर्जन रूट ठप

सोलन में सड़कों पर पेड़, मलबा गिरने से पीडब्ल्यूडी को लगी करारी चपत

सौरभ शर्मा-सोलन जिलाभर में तीन दिनों से जारी बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। मंगलवार को आरंभ हुई बारिश का क्रम गुरुवार को भी बदस्तूर जारी रहा। लगातार हो रही बारिश से जहां तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, वहीं गुरुवार को जिला में आधा दर्जन से अधिक रूट बंद हुए हैं। इसके अलावा नेशनल हाई-वे सहित अन्य मार्गों पर कहीं पेड़ों के गिरने व पहाड़ी से पत्थर गिरने से भी खासा नुकसान हुआ है। लोक निर्माण विभाग इन मार्गों को खोलने का कार्य युद्धस्तर पर कर रहा है और बारिश से हुए नुकसान का आकलन भी किया जा रहा है। हालांकि विभागीय अनुमान अनुसार इस बारिश के चलते जिलाभर में लोक निर्माण विभाग को करोड़ों रुपए की चपत लगी है। समाचार लिखे जाने तक कई मार्गों को बहाल कर दिया गया था। बुधवार देर रात से जारी बारिश के बीच गुरुवार को लगभग सारा दिन बादल बरसते रहे।

मूसलाधार बारिश के चलते कई सड़क मार्ग अवरूद्ध हुए हैं और मौसम में भी ठंडक बढ़ गई है। सोलन-सुबाथू मार्ग पर बेरटी में गिरा पेड़, दो घंटे बंद रहा यातायात इस भारी बारिश के चलते गुरुवार दोपहर को सोलन-सुबाथू मार्ग बैरठी में सडक़ पर एक विशालकाय पेड़ गिर गया। इस कारण मार्ग अवरूद्ध हो गया है और दोनों ओर लंबा जाम लग गया। पेड़ के गिरन से सड़क किनारे खड़ी एक गाड़ी इसके नीचे दब गई। दोपहर करीब एक बजे बेरटी में स्थित प्राचीन लक्ष्मी नारायण मंदिर के प्रांगण में खड़ा विशालकाय पेड़ जड़ों से टूटकर सडक़ मार्ग पर गिर गया। आवाज सुनते ही आसपास के लोग जब वहां पहुंचे तो देखा कि पेड़ सडक़ पर गिरा है, जिससे रास्ता बंद हो गया है। विभागीय कर्मचारियों ने जेसीबी की सहायता से इस पेड़ को हटाकर मार्ग को बहाल किया। बता दें कि यह मार्ग काफी व्यस्त मार्गों में से एक है और सुबाथू, कुठाड़, चंडी सहित कुनिहार, अर्की, दाड़लाघाट आदि क्षेत्र के लोगों को जिला मुख्यालय से जोडऩे का एकमात्र मार्ग है। वहीं सोलन के पुराना बस स्टैंड के समीप बनी टैक्सी व ऑटो पार्किंग स्थल पर भी एक पेड़ अचानक ही गिर गया। इस पेड़ के गिरने से वहां खड़ीं करीब तीन टैक्सियों खासी क्षतिग्रस्त हुई हैं। (एचडीएम)