Rajasthan-Punjab मुकाबले में होगी samsan-rahul की टक्कर, IPL में दोनों का जोरदार प्रदर्शन

शारजाह — आईपीएल में जोरदार प्रदर्शन कर रही राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की टीमों के बीच रविवार को होने वाले मुकाबले में ओपनर और विकेटकीपर बल्लेबाजों राजस्थान के संजू सैमसन और पंजाब के लोकेश राहुल के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी। राजस्थान और पंजाब की टीमों ने अपने पिछले मुकाबले जीते हैं और दोनों टीमों की नजरें अपना विजय रथ आगे बढ़ाने पर होंगी। राजस्थान ने टूर्नामेंट के अपने पहले मुकाबले में 216 रन का विशाल स्कोर बनाकर गत उपविजेता चेन्नई सुपर किंग्स को 16 रन से हराया था जबकि पंजाब की टीम ने 206 रन बनाकर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 97 रन के बड़े अंतर से पराजित किया था। दोनों टीमें जीत से उत्साहित हैं और अगले मुकाबले के लिए तैयार हैं।

पंजाब दो मुकाबले में एक जीत एक हार के साथ दो अंक लेकर अंक तालिका में दूसरे स्थान पर है, जबकि राजस्थान की टीम एक जीत के साथ दो अंक लेकर चौथे नंबर पर है। पंजाब का यह तीसरा और राजस्थान का दूसरा मैच होगा।

राजस्थान के सैमसन ने चेन्नई के खिलाफ मात्र 32 गेंदों में एक चौके और नौ छक्कों की मदद से ताबड़तोड़ 74 रन बनाए थे जबकि राहुल ने बेंगलुरु के खिलाफ 69 गेंदों में 14 चौकों और सात छक्कों के साथ नाबाद 132 रन की पारी खेली थी। यह राहुल का सर्वश्रेष्ठ स्कोर और इस आईपीएल का पहला शतक था।

राजस्थान का अपने दूसरे मैच से पहले मनोबल इस बात से ऊंचा हो गया है कि टीम के स्टार बल्लेबाज जोस बटलर का क्वारेंटीन पीरियड पूरा हो चुका है और वह अगले मुकाबले में खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। राजस्थान का टीम प्रबंधन इस बात की पुष्टि कर चुका है कि बटलर इस मुकाबले में खेलेंगे। हालांकि टीम के विस्फोटक ऑलराउंडर बेन स्टोक्स अपने पिता की बीमारी के कारण न्यूजीलैंड में है और अभी भी टीम से नहीं जुड़ सके हैं।

बटलर के टीम में शामिल होने से राजस्थान का बल्लेबाजी आक्रमण और मजबूत होगा जो पंजाब के लिए कड़ी चुनौती बन सकता है। राजस्थान के ब्रांड एम्बेसेडर और मेंटर शेन वार्न भी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंच गए हैं। हालांकि वह अभी क्वारेंटीन में रहेंगे लेकिन उनके आने से टीम का मनोबल बढ़ गया है। वार्न की कप्तानी ने राजस्थान ने पहली आईपीएल में सबको चौंकाते हुए खिताब जीता था।

दूसरी तरफ पंजाब इस मुकाबले से पहले इस मैदान पर राजस्थान के खिलाफ छह साल पुराने रिकॉर्ड से प्रेरणा ले सकता है कि शारजाह में 2014 में राजस्थान के खिलाफ खेले गए पिछले मुकाबले में उसे जीत हासिल हुई थी। पिछली बार इसी मैदान पर राजस्थान के खिलाफ खेले गए मुकाबले में पंजाब की टीम ने सात विकेट से जीत दर्ज की थी। उस मैच में राजस्थान ने पांच विकेट पर 191 रन बनाए थे जबकि पंजाब ने तीन विकेट पर 193 रन बनाकर मैच जीता था। मुकाबले में राजस्थान की तरफ से सैमसन ने 52 रन और स्टीवन स्मिथ ने नाबाद 27 रन बनाए थे जबकि पंजाब की तरफ से ग्लेन मैक्सवेल ने 89 रन ठोके थे। जहां एक तरफ पंजाब इस रिकॉर्ड से उत्साहित होगी तो वहीं राजस्थान के पास पिछली हार का बदला चुकता करने का मौका होगा।

राजस्थान की ओर से चेन्नई के खिलाफ पिछले मुकाबले में कप्तान स्मिथ (69) ने भी शानदार पारी खेली थी और सैमसन के साथ मिलकर 121 रन की बड़ी साझेदारी की थी। राजस्थान के शीर्ष क्रम ने तो शानदार खेल का प्रदर्शन किया था लेकिन उसका मध्य क्रम लडख़ड़ाया था। स्मिथ को अपने मध्यक्रम को मजबूत करना होगा।

अच्छी शुरुआत के बाद राजस्थान के मध्यक्रम के बल्लेबाज पारी को और मजबूती देने में नाकाम रहे थे। डेविड मिलर (0) औऱ रॉबिन उथप्पा (5) अपनी भूमिका निभाने में विफल रहे। हालांकि तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने आठ गेंदों में चार छक्कों की मदद से नाबाद 27 रन की विस्फोटक पारी खेल अपनी क्षमता का एहसास कराया था और टीम को 200 के पार पहुंचाया था।

आर्चर की धुआंधार पारी की बदौलत ही राजस्थान 216 रन का बड़ा स्कोर खड़ा कर सकी थी। स्मिथ को अपने मध्यक्रम में सुधार करना होगा। बटलर के टीम में शामिल होने से यह तय है कि युवा ओपनर यशस्वी जायसवाल को बाहर बैठना होगा। डेविड मिलर को भी बाहर बैठना पड़ सकता है क्योंकि एकादश में चार विदेशी खिलाड़ी ही खेल सकते हैं। राजस्थान चार विदेशी खिलाडिय़ों में बटलर, कप्तान स्मिथ, आर्चर और टॉम करेन को उतारेगी।

राजस्थान को अपनी गेंदबाजी में भी सुधार करना होगा जिसने 216 रन के मजबूत स्कोर का बचाव करते हुए कुछ खास गेंदबाजी नहीं की थी। चेन्नई के बल्लेबाजों ने राजस्थान के गेंदबाजों की जमकर धुलाई थी और मैच जीतने के करीब पहुंच गए थे। चेन्नई ने 200 रन बनाये थे। हालांकि राहुल तेवतिया ने तीन विकेट लिए थे।

राजस्थान को अगर पंजाब की चुनौती से पार पाना है तो उसे राहुल और मयंक अग्रवाल की जोड़ी को सस्ते में निपटाना होगा जिन्होंने बेंगलुरु के खिलाफ तूफानी पारी खेली थी। पंजाब को भी सैमसन, स्मिथ और बटलर की तिकड़ी का सामना करना है और इन्हें बड़ी पारी खेलने से रोकना होगा।

पंजाब की ओर से मैक्सवेल का बल्ला पिछले मुकाबलों में खामोश रहा था और अब समय है कि उन्हें फॉर्म में लौटना होगा जबकि निकोलस पूरन को भी टिककर मध्यक्रम में अपनी जिम्मेदारी बखूबी समझनी होगी। मैक्सवेल ने 2014 में राजस्थान के खिलाफ मुकाबले में मात्र 45 गेंदों में आठ चौकों और छह छक्कों की मदद से 89 रन की मैच विजयी पारी खेली थी।

पंजाब के गेंदबाजों ने पिछले मुकाबले में बेहतर प्रदर्शन किया था। लेकिन राजस्थान के खतरनाक बल्लेबाजों के सामने उसे एक बार फिर अपनी काबिलियत साबित करनी होगी। पंजाब और राजस्थान के बीच मुकाबला बराबरी का है जो भी टीम संयमित होकर मौके का फायदा उठाने में कामयाब रहेगी उसे सफलता हासिल होगी।

The post Rajasthan-Punjab मुकाबले में होगी samsan-rahul की टक्कर, IPL में दोनों का जोरदार प्रदर्शन appeared first on Divya Himachal.

Related Stories: