Tuesday, April 13, 2021 09:56 AM

रपट सही...तभी आएं मैड़ी

घंगरेट पंचायत में कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त राघव शर्मा बोले, बेटियों की उच्च शिक्षा पर दिया जाए ध्यान

टीम-ऊना-चिंतपूर्णी विकास खंड अंब के अंतर्गत ग्राम पंचायत घंगरेट में आने वाले अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। उपायुक्त ने गांव से बाहर उच्च शिक्षा ग्रहण कर रही है बेटियों सहित 50 होनहार बेटियों को सम्मानित किया गया। राघव शर्मा ने महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि बेटियों की उच्च शिक्षा से ही समाज जागृत होगा और समाज का सही मायने में विकास हो पाएगा। उन्होंने कहा कि आज हम 21वीं सदी में जी रहे है और वर्तमान समय की आवश्यकता है कि बेटियों की उच्च शिक्षा पर ध्यान दिया जाए जिससे हमारी बेटियां समाज का सामना करने में समर्थ हो सकें। डीसी ने प्रतिभागियों को जानकारी देते हुए बताया कि महिलाओं को सशक्त करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा काफी प्रयास किए जा रहे हैं। इस योजना के तहत अपने माता-पिता की देखभाल करने वाली बेटियों के साथ-साथ बेटियों को गोद लेने वाले माता-पिता, बेटी की उच्च शिक्षा व प्रोफेशनल कार्स कराने वालों व इसके लिए ऋण लेने वाले परिवारों तथा बेटियों के आर्थिक सशक्तिकरण में काम करने वाली संस्थाओं को भी सम्मानित किया जाएगा।

इस मौके पर उपायुक्त ने उपस्थित पंचायत प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि अपनी पंचायत की समस्याओं अच्छी प्रकार समझ कर और सही निर्णय से हल करने का प्रयास करें। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि एक वर्ष पांच कार्य कार्यक्रम को प्राथमिकता के आधार पर अपनी पंचायत में लागू करें। कार्यक्रम को ऊना जिला ने पहल के रूप में शुरू किया है। कार्यक्रम में ग्राम पंचायत प्रधान वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि घंगरेट पंचायत ऊना जिला की अंतिम ग्राम पंचायत है और पंचायत के लोगों के साथ मिलकर पंचायत की हर समस्या का निवारण सुनिश्चित किया जाएगा। इस अवसर पर बीडीसी सदस्य वेद प्रकाश, ग्राम पंचायत गिंडपुर मलौण की प्रधान मीनाक्षी धीमान, उपप्रधान हरदेव सिंह, एसइबीपीओ सुखचैन, जेई दिनेश सहित अन्य उपस्थित रहे। इस मौके पर डीसी राघव शर्मा ने पंचायत प्रतिनिधियों व खंड विकास अधिकारियों के साथ सहकारी सभा भवन के साथ लगते नाले, पटवारघर और पंचायत घर का दौरा कर निरीक्षण किया और इनसे संबंधित समस्याओं के प्राथमिकता के आधार पर निवारण करने का आश्वासन दिया।

इन्नरव्हील क्लब ऊना ने बेहतर काम करने पर पांच महिलाओं को किया सम्मानित सिटी रिपोर्टर-ऊना इन्नरव्हील क्लब ऊना ने महिला दिवस के उपलक्ष्य पर शुक्रवार को विभिन्न क्षेत्रों में विशेष कार्य कर रही महिलाओं को सम्मानित किया। समारोह क्लब की अध्यक्ष सुमन पुरी की अध्यक्षता में किया गया। इस मौके पर आईएएस डा. निधि पटेल वर्तमान एसडीएम ऊना ने विशेष रूप से शिरकत की। इस मौके पर पांच महिलाओं को अलग-अलग क्षेत्रों में बेहतर काम करने पर सम्मानित किया गया। इनरव्हील क्लब ऊना ने एसडीएम डाक्टर निधि पटेल, नगर परिषद ऊना की अध्यक्ष पुष्पा चौधरी, लाड़ली रक्षक की अध्यक्ष रेखा जंबाल, व ऋतु सिंह, कांगड़ की प्रधान नीलम धीमान को विशेष उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया। डा. निधि पटेल ने कहा कि जैसे शिक्षित परिवार व समाज का आधार शिक्षित महिला होती है। वैसे ही स्वस्थ परिवार और स्वस्थ समाज का आधार स्वस्थ महिलाएं ही होती हैं। उन्होंने कहा कि मुझे अच्छा लगा कि ऊना में अनेक सामाजिक संगठन काम कर रहे हैं और एक दूसरे का प्रोत्साहन करते हैं।

उन्होंने कहा कि इन्नरव्हील क्लब ऊना बेहतर कार्य कर रहा है और महिलाओं को सशक्तिकरण करने के लिए प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि मैं भी हरसंभव सहयोग क्लब को दूंगी। महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि माता-पिता, बेटा-बेटी में कोई अंतर न समझें। इन्नरव्हील क्लब ऊना की पूर्व अध्यक्ष सीमा वशिष्ठ ने कहा कि क्लब अपने सामाजिक दायित्व का लगाातर निर्वहन कर रहा है। इस अवसर पर मंच संचालन किरण भयाना ने बेहतर रूप से किया और क्लब की गतिविधियों पर भी प्रकाश डाला। इस मौके पर सचिव रंजना जसवाल, जतिंद्र कौर, तजिंद्र कौर, मेघा ओहरी, रमा कंवर, निशा शारदा, अनिता, सोनिया ठाकुर, रमा कालिया, कमला कंवर, रजिता, नीलम साही, सोनिया ठाकुर, अमरजीत, बबली, वंदना कपूर, रेखा शर्मा, रोटरी क्लब के सचिव सुरिंदर ठाकुर सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे।

कुठार खुर्द पंचायत प्रतिनिधियों ने सतपाल सिंह सत्ती को कहा थैंक्स

नगर संवाददाता-ऊना छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा है कि कुठार खुर्द के लिए ऊना-संतोषगढ़ सड़क से जाने वाली संपर्क सड़क पर लगभग 11 लाख रुपए की लागत से इंटरलॉकिंग पेवर ब्लॉक लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। सतपाल सत्ती ने कहा कि स्थानीय निवासी अब सड़क के किनारे नाली बनाने की मांग कर रहे हैं, जिसके लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को एक हफ्ते के भीतर एस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि एस्टीमेट बनने के बाद इसे सरकार को भेजा जाएगा, ताकि बजट की मांग की जा सके। उन्होंने कहा कि धनराशि स्वीकृत व जारी होने पर एक सप्ताह में नालियों के निर्माण का कार्य भी पूरा कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि गांव व गरीब का विकास प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। विकास कार्यों को अमली जामा पहनाने में धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी। कुठार खुर्द में 150 मीटर लंबे संपर्क मार्ग का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद स्थानीय पंचायत निवासियों ने छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती का आभार जताया है। मंडल भाजपा उपाध्यक्ष मोहन सिंह, ग्राम पंचायत प्रधान रचना देवी, पूर्व प्रधान मलकीत सिंह ने सत्ती का आभार जताते हुए कहा कि सड़क के खस्ताहाल होने से क्षेत्रवासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। स्थानीय निवासियों ने कहा कि सतपाल सत्ती स्वयं विकास कार्यों का निरीक्षण करने के लिए पंचायत में आए थे तथा संबंधित विभागों को लंबित पड़े कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए।

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-ऊना छठे राज्य वितायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने जट्टपुर में लगभग एक करोड़ 25 लाख रुपए की लागत से निर्मित उठाऊ पेयजल योजना का लोकपर्ण किया। इस योजना के बनने से नप संतोषगढ़ के वार्ड नंबर-एक व दो की लगभग पांच हजार की आबादी को लाभ पहुंचेगा। इसके टैंक की भंडारण क्षमता तीन लाख 27 हजार लीटर की क्षमता है। इस अवसर पर अपने संबोधन में सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि हर घर को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से जल जीवन मिशन की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत प्रत्येक घर नल पहंचाया जा रहा है ताकि कोई भी परिवार स्वच्छ पेयजल आपूर्ति से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जल जीवन मिशन के तहत 2022 तक हर घर को नल प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है।

ऊना जिला में इस योजना के तहत 180 करोड़ रुपए का बजट प्राप्त हो चुका है। जिला में 7888 घरों में नल नहीं था। मिशन के तहत अब तक लगभग छह हजार घरों में नल लगाए जा चुके हैं और जिला ऊना इस योजना के कार्यान्वयन में पहले पायदान पर है जिसके लिए उन्होंने विभाग की प्रशंसा की है। उन्होंने बताया संतोषगढ़ को जून माह तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रदान कर दिया जाएगा जिसमें तीन-चार डाक्टरों व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में सुचारु विद्युत आपूर्ति और वोल्टेज की समस्या के समाधाान के लिए 35 ट्रांसर्फामर लगाए गए हैं और 11 करोड़ व्यय करके ऊना संतोषगढ़ रोड को सुदृढ़ किया गया है। इस अवसर पर ऊना मंडलाध्यक्ष हरपाल सिंह गिल, नगर परिषद संतोषगढ़ की अध्यक्ष निर्मला देवी, पार्षद रचना देवी, एक्सईएन आईपीएच नरेश धीमान सहित अन्य उपस्थित रहे।

विद्युत बोर्ड से न निकाले जाएं आउटसोर्स कर्मचारी ऊना। विद्युत बोर्ड में कार्यरत आउटसोर्स कर्मचारियों को न निकाला जाए। यह मांग हिमाचल प्रदेश विद्युत परिषद तकनीकी कर्मचारी संघ ने प्रदेश सरकार से की है। शुक्रवार को कर्मचारियों की बैठक जिला प्रधान शाम लाल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया कि विद्युत बोर्ड में कार्यरत आउटसोर्स कर्मचारी पिछले सात-आठ वर्ष से सेवाएं दे रहे है। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों को निकाला नहीं जाए ओर इनकी सेवाएं निरंतर जारी रखी जाएं। बैठक में प्रदेश वरिष्ठ प्रधान अजय पराशर सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

नगर संवाददाता- ऊना सक्षम बॉक्सिंग क्लब हंबोली में चार अप्रैल को बॉक्सिंग स्पर्धा करवाई जाएगी। बॉक्सिंग मुकाबले में जिला, प्रदेश सहित अन्य प्रदेशों से भी खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। यह जानकारी क्लब के चेयरमैन राजेश शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता से पहले सप्ताहिक प्रशिक्षण कैंप भी लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हंबोली में बॉक्सिंग अकादमी खोलने का उददेश्य जिला व प्रदेश में बॉक्सिंग के खिलाडिय़ों को तैयार करना है। उन्होंने कहा कि वह व उनकी पत्नि उनकी सरोज शर्मा खिलाडिय़ों को तैयार कर रहे है।

इनका उद्देश्य ग्रामीण बच्चो की बॉक्सिंग को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लेकर जाने का है। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले सभी खिलाड़ी अपना जन्म प्रमाण पत्र और आधार कार्ड साथ लागए। उसी के आधार पर खिलाड़ी हिस्सा ले पाएंगे। विजेता खिलाडिय़ों को सर्टिफिकेट, मोमेंटो और टी-शर्ट से सम्मानित किया जाएगा।

सिटी रिपोर्टर- ऊना जिला ऊना में एक बार फिर कोरोना ने अपना अटैक किया है। शुक्रवार को जिला ऊना में 18 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिनमें से सात आरटीपीसी तथा 11 लोग एंटी रैपिड टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। पांच साल के शिशु से लेकर 74 साल के बुजुर्ग को कोरोना अपनी चपेट में लिया है। कोरोना संक्रमण के मामले बढऩे से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। दो गज की दूरी व फेस मास्क का प्रयोग करना अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं, कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से जागरूकता अभियान भी शुरू किए गए हैं, लेकिन इसके बाबजूद भी कोरोना का संक्रमण ऊना में फिर से बढ़ गया है। शुक्रवार को कोरोना संक्रमित व्यक्तियों ने ऊना का पांच वर्षीय शिशु, हरोली के मल्लूवाल की नौ वर्षीय लड़की, अंब पंजोआ की 16 वर्षीय लड़की, अंब की 17 वर्षीय लड़की शामिल है। इसके अतिरिक्त दौलतपुर चौक से 18 वर्षीय, पंजोआ से 45 वर्षीय, अलैहड़-सलोई से 56 वर्षीय महिला, हरोली सिंगा से 50 वर्षीय महिला, हरोली से 45 वर्षीय पुरुष, चुआर अंब से 47 वर्षीय पुरुष, अंब से 57 वर्षीय महिला, अंब से 47 वर्षीय पुरुष, अंब से 69 वर्षीय महिला, अंब से ही 72 वर्षीय वृद्ध, अंब से 34 वर्षीय महिला, ऊना प्रेम नगर से 66 व 60 वर्षीय दंपत्ति और पंजोआ की 74 वर्षीय बुजुर्ग महिला शामिल हैं। सीएमओ ऊना रमन कुमार ने बताया कि शुक्रवार को ऊना जिला में कोरोना के 18 मामले सामने आए हैं। पति पर प्रताडि़त करने का आरोप दौलतपुर चौक। क्षेत्री के गांव अभयपुर में घरेलू का हिंसा का मामला प्रकाश में आया है। अभयपुर निवासी महिला ने अपने पति सहित अन्य परिजनों पर उसे प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। वहीं, शादी के कुछ महीनों बाद से ही इसका पति, ससुर, सास एवं ननद इसे मायके से दहेज लाने के लिए प्रताडि़त कर रहे है। पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की छानबीन।

अंबोआ गांव में बाबा राकेश शाह की गोशाला में दिया वारदात को अंजाम स्टाफ रिपोर्टर- दौलतपुर चौक क्षेत्र के अंबोआ गांव में बाबा राकेश शाह की गोशाला में रखे चारे को शातिरों ने आग के हवाले कर दिया। गोशाला में धुआं उठता देख मामले की सूचना फायर बिग्रेड व पुलिस को दी गई। दोनों टीमों ने मौका पर पहुंचकर आग बुझाने की कार्रवाई को अंजाम दिया। इस आग से लाखों के नुकसान को अनुमान लगाया जा रहा है। आग से 400 क्विटंल तूड़ी एवं 200 ट्रॉली खाद जलकर राख हो गई है। गोशाला संचालक बाबा राकेश शाह ने बताया कि अंबोआ गांव में खड्ड के किनारे स्टोर करके रखी गई गोशाला की तूड़ी को अज्ञात शातिरों ने आग लगा दी। इसकी सूचना राहगीरों ने शुक्रवार दोपहर बाद लगभग दो बजे उन्हें फोन पर दी। इस पर उन्होंने तुरंत पुलिस एवं फायर ब्रिगेड को फोन पर सूचना दी। सूचना मिलते ही चौकी प्रभारी तरसेम सिंह की अगवाई में पुलिस एवं फायर ब्रिगेड की चिंतपूर्णी व अंब की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, परंतु तब तक स्टोर करके रखी गई गोशाला की लगभग 400 क्विंटल तूड़ी एवं 200 ट्रॉली खाद जल कर राख हो गई।

बाबा राकेश शाह ने कहा कि गोशाला में लगभग 150 गोधन है और चारा जल जाने से उन्हें दिक्कत हो रही है। उन्होंने प्रशासन मांग की है कि अज्ञात शातिरों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाए और गोशाला को आर्थिक मदद दी जाए। उधर, जिला पार्षद संगीता शर्मा एवं अन्य पंचायत प्रतिनिधियों ने मौके पर पहुंचकर इस घटना का जायजा लिया और प्रशासन से डेरा को आर्थिक सहायता दिए जाने का आग्रह किया। वहीं, चौकी प्रभारी तरसेम सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने फायर ब्रिगेड की मदद से आग पर काबू पाया, आग कैसे लगी इस बाबत जांच जारी है। उधर, एसडीएम विनय मोदी ने घटनास्थल पर पहुंच कर जायजा लिया और अधिकारियों को रिपोर्ट बनाकर भेजने के आदेश दिए।

ऊना में होला मोहल्ला के लिए 72 घंटे पहले जारी हुई कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट जरूरी, जिला प्रशासन ने लिया फैसला दिव्य हिमाचल ब्यूरो- ऊना जिला के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल मैड़ी स्थित गुरुद्वारा बाबा बड़भाग सिंह में 21 से 31 मार्च तक होली मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में प्रदेश सहित पंजाब व हरियाणा से भारी संख्या में श्रद्धालु अपनी आस्था व्यक्त करने आते हैं। कई श्रद्धालु मेला अवधि के दौरान मैड़ी में ही रूकते हैं। कोविड-19 महामारी के दौर में बीमारी से बचाव व इसके संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि मेले में आने वाले श्रद्धालु अपने साथ कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट अवश्य लाएं।

यह जानकारी देते हुए उपायुक्त, ऊना राघव शर्मा ने बताया कि मैड़ी मेला में आने वाले श्रद्धालु ऊना पहुंचने से 72 घंटे पूर्व जारी कोविड-19 रिपोर्ट अपने साथ लाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट सरकार से मान्यता प्राप्त लेबोरेटरी द्वारा जारी की गई हो। उन्होंने श्रद्धालुओं का आह्वान भी किया है कि बिना कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट के होली मेला के लिए यात्रा न करें। उन्होने कहा कि श्रद्धालुओं को इस बारे जागरूक करने के मकसद से पंजाब के सभी उपायुक्तों के साथ पत्राचार किया गया है।