Saturday, October 24, 2020 10:25 PM

रोहतांग दर्रे पर हटे टैक्सियों की बंदिश

हिम आंचल टैक्सी यूनियन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख रखी मांग

मनाली-हिमआंचल टैक्सी आपरेटर्ज यूनियन मनाली के प्रधान गुप्तराम ठाकुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिख कर रोहतांग जाने वाली टैक्सियों की निर्धारित संख्या से बंदिश हटाने का आग्रह किया है। गुप्तराम ठाकुर ने खत में कहा है कि माननीय एनजीटी ने रोहतांग पर पर्यटक सीजन के दौरान यातायात समस्या होने के चलते  रोहतांग जाने वाली टैक्सियों की संख्या प्रति दिन 1200 निर्धारित की है।

श्री ठाकुर ने कहा कि तीन अक्तूबर से अटल टनल रोहतांग खुलने जा रही है, जिससे लाहुल-स्पीति, पांगी तथा लेह लद्दाख की ओर जाने तथा मनाली की ओर आने वाले सभी वाहन इस टनल का प्रयोग करेंगे नतीजतन रोहतांग मार्ग पर वाहनों की संख्या में काफी कमी आएगी और वहां यातायात की समस्या पूरी तरह समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मनाली में करीब 5000 टैक्सियां हैं और कई परिवारों की रोजी रोटी टैक्सी के कारोबार पर निर्भर है। इसके अलावा एक पर्यटन राज्य होने के नाते हिमाचल के हजारों युवा टैक्सी के व्यवसाय से जुड़े हैं, जिनका रोजगार मनाली से भी जुड़ा है। कोविड 19 के चलते उक्त कारोबार से जुड़े परिवारों पर आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। उनका कहना है कि उन्होंने इन दिक्कतों से प्रशासन व सरकार को भी अवगत करवाया है।

टैक्सी यूनियन रोहतांग पर पर्यावरण और कन्जैशन चार्ज के 550 रुपए प्रति टैक्सी परमिट के पहले की तरह देती रहेगी, ताकि पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपना दायित्व पहले की तरह निभाते रहें। श्री ठाकुर ने रोहतांग मार्ग पर टैक्सियों की आवाजाही पहले की तरह सुनिश्चित करने का आग्रह करते हुए प्रशासन व सरकार को यूनियन की ओर से पूरा सहयोग देने की भी बात अपने पत्र में की है।

The post रोहतांग दर्रे पर हटे टैक्सियों की बंदिश appeared first on Divya Himachal.