Saturday, October 31, 2020 12:38 AM

शहीद बेटे का कीर्ति चक्र लौटाने राजभवन पहुंचीं मां; न बना स्मारक, न ही अपग्रेड हुआ स्कूल

वादा पूरा न होने पर अनिल चौहान के परिवार ने दिया धरना; न बना स्मारक, न ही अपग्रेड हुआ स्कूल

वर्ष 2004 में कीर्ति चक्र से नवाजे गए शहीद अनिल चौहान का परिवार आज भी उस वादे को पूरा करवाने के लिए भटक रहा है, जो कभी सरकार ने उनके साथ किया था। शहीद की शहादत पर सरकार ने ऐलान किया था कि उसके नाम पर एक स्मारक बनाया जाएगा और शहीद के नाम पर स्कूल का नामकरण कर उसे अपग्रेड किया जाएगा, मगर इतने साल बीतने के बाद भी ऐसा नहीं हुआ, जिस पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इन्हें आश्वस्त किया है कि वह मामला देखकर जल्द निपटाएंगे। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने वादा किया है, तो उसे पूरा किया जाएगा।

शहीद के परिवार के सदस्य, जिसमें उनकी मां भी है, ने सोमवार को राजभवन के बाहर धरना दे दिया, जहां सीएम ने उनसे बात की। वह कीर्ति चक्र लौटाने यहां पहुंचे थे। कांगड़ा जिला के जयसिंहपुर का जवान 2002 में असम में शहीद हुआ। उनकी शहादत पर उन्हें कीर्ति चक्र से नवाजा गया। उसी वक्त तत्कालीन सरकार ने शहीद के नाम पर स्मारक बनाने व स्कूल का नाम रखने की घोषणा की थी, लेकिन 18 साल के बाद भी सरकार ने दोनों वादे पूरे नहीं किए। नाराज शहीद अनिल का परिवार आज कीर्ति चक्र लौटने राजभवन पहुंच गया।

मां राजकुमारी का कहना है कि 23 साल के बेटे ने 2002 में असम में अपनी शहादत दी थी। उस वक्त वीरभद्र सरकार ने अनिल के नाम पर स्कूल का नाम रखने, उसे अपग्रेड करने व स्मारक बनाने का वादा किया था, जो कागजों में ही रह गया। 18 साल तक वादा पूरा न करना शहीदों का अपमान है, इसलिए वह कीर्ति चक्र लौटाने आई हैं। सामाजिक कार्यकर्ता संजय शर्मा, जो इस परिवार को लेकर राजभवन पहुंचे, ने बताया कि यह एक शहीद परिवार की बात नहीं है, प्रदेश में ऐसे कितने शहीद हैं, जिनके साथ सरकार वादा खिलाफी कर रही है, इसलिए नाराजगी है।

सीएम ने गाड़ी रोक जाना मामला

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी इसी बीच राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे थे। शहीद के परिवार को देखकर उन्होंने गाड़ी रोकी व शहीद परिवार को आश्वासन दिया। उन्होंने पूरी जानकारी ली और इसके बाद शहीद परिवार को अपने कार्यालय भी बुलाया। सीएम ने कहा कि सरकार इसकी पड़ताल करेगी कि किन शहीद परिवारों के साथ वादे किए गए थे, जिन्हें बाद में पूरा नहीं किया गया। उन्होंने शहीद अनिल चौहान  के मामले में परिवार को आश्वस्त किया है। सीएम ने कहा कि सरकार ने यदि वादा किया है, तो उसे पूरा किया जाना चाहिए। आखिर किस वजह से कमिटमेंट पूरी नहीं हो सकी है, वह इसे देखेंगे।

The post शहीद बेटे का कीर्ति चक्र लौटाने राजभवन पहुंचीं मां; न बना स्मारक, न ही अपग्रेड हुआ स्कूल appeared first on Divya Himachal.