Monday, October 18, 2021 05:20 PM

थाइराइड के संकेत

थाइराइड में बॉडी सही तरह से ऊर्जा खर्च नहीं कर पाती, तो तेजी से वजन बढ़ने या घटने लगता है। साथ ही मरीज के हार्ट, मस्सल्स, हड्डियों पर भी थाइराइड की समस्या का बुरा असर पड़ता है। वक्त रहते इस बीमारी का पता चल जाए, तो इसे आसानी से काबू किया जा सकता है...

थाइराइड हमारी बॉडी में पाई जाने वाली एंडोक्राइन ग्लैंड में से एक है। इसके ठीक से काम न करने पर मरीज को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में बॉडी सही तरह से ऊर्जा खर्च नहीं कर पाती, तो तेजी से वजन बढ़ने (हाइपोथाइरॉडिज्म) या घटने (हाइपरथाइरॉडिज्म) लगता है। साथ ही मरीज के हार्ट, मस्सल्स, हड्डियों पर भी थाइराइड की समस्या का बुरा असर पड़ता है। वक्त रहते इस बीमारी का पता चल जाए, तो इसे आसानी से काबू किया जा सकता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे संकेतों के बारे में। अचानक वजन बढ़ने लगे तो आपको हाइपोथाइराडिज्म की शिकायत हो सकती है। ऐसे ही वजन अचानक कम होना हाइपरथाइराडिज्म की निशानी है।

सूई सी चुभन और दर्द

थाइराइड की समस्या बढ़ जाने पर गले में सूजन आ जाती है और गले में सूई की चुभन जैसा हल्का दर्द बना रहता है। ऐसे में तुरंत डाक्टर की सलाह लें।

थकान

आपको आलस आता है। अकसर कमजोरी महसूस होती है। थोड़ा सा काम करने पर ही थक जाते हैं, तो यह थाइराइड का संकेत हो सकता है।

दर्द की शिकायत

मस्सल्स का दर्द भी थाइराइड का संकेत हो सकता है। इसलिए बिना किसी कारण अकसर हाथ, पैर, कमर, कंधों या जोड़ों में दर्द महसूस हो तो इसे नजरअंदाज न करें।

डिप्रेशन और भूलने की आदत

शरीर में थाइरॉक्सिन नामक हार्मोंन का लेवल कम होने के कारण मूड अकसर बिगड़ता रहता है। किसी काम में मन नहीं लगता और रात में नीद नहीं आती। समस्या बढ़ जाने पर याददाशत भी कमजोर होने लगती है।

अकसर बीमार रहना

हाइपरथाइराडिज्म रहने पर शरीर की इम्युनिटी कम हो जाती है। ऐसे में शरीर खुद को बीमारियों से बचा नहीं पाता और कोई न कोई हैल्थ समस्या बनी रहती है।

भूख पर असर

अचानक से भूख बढ़ जाना हाइपरथाइराडिज्म का संकेत है। ऐसे ही हाइपोथाइराडिज्म होने पर भूख नहीं लगती। यदि आपके खाने की आदत  में  अचानक बदलाव हो, तो इसे नजरअंदाज न करें।

पसीना आना या ठंड लगना

थाइराइड का बुरा असर शरीर के मेटाबॉलिक रेट पर पड़ता है। ऐसे में थोड़ी सी गर्मी होने पर भी बहुत ज्यादा पसीना आना या हल्की ठंड बढ़ने पर बहुत ठंड लगने की शिकायत हो सकती है।