Tuesday, December 07, 2021 05:20 AM

Singhu border: सिंघु बॉर्डर हत्या में एक और गिरफ्तारी, निहंग नारायण ने किया सरेंडर

दिल्ली के निहंग नारायण सिंह ने अमृतसर पहुंचकर किया सरेंडर; कहा, सरबजीत के साथ मैं भी कसूरवार

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली

सिंघु बॉर्डर पर तरनतारन के गांव चीमा के रहने वाले लखबीर सिंह की हत्या का विवाद गर्माता जा रहा है। इस घटना के 15 घंटे बाद शुक्रवार शाम को निहंग सरबजीत सिंह ने सरेंडर किया था। अब एक और निहंग नारायण सिंह ने सरेंडर कर दिया है। दिल्ली के निहंग नारायण सिंह को सरेंडर के बाद अमृतसर के देवीदास पुरा गुरुद्वारे के बाहर से हिरासत में लिया गया। पुलिस ने कहा कि नारायण सिंह के अमृतसर पहुंचने की खबर मिलते ही इलाके को घेर लिया गया था। गुरुद्वारे से बाहर निकलते ही पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। अमृतसर में हिरासत में लिए गए निहंग नारायण सिंह ने कहा कि लखबीर सिंह ने गुरु का अपमान किया था, इसलिए उन्होंने जो किया, ठीक किया। अगर सरबजीत सिंह कसूरवार है, तो मैं भी कसूरवार हूं। मैंने भी सरबजीत सिंह का उतना ही सहयोग किया है। 2014 से गुरुओं का अपमान हो रहा है।

गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान की कितनी घटनाएं सामने आर्ईं, लेकिन पुलिस ने सहयोग नहीं दिया। एक भी आरोपी पर कार्रवाई नहीं की गई। इस घटना में आरोपी को सरेआम पकड़ लिया गया और उस समय जो ठीक लगा, निहंग जत्थेबंदियों ने वही किया। ऐसे में मैं भी उतना ही कसूरवार हूं, जितना सरबजीत। सोनीपत के डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें अमृतसर में निहंग नारायण सिंह के सरेंडर की सूचना वहां की पुलिस से मिल गई थी। सिंह ने कहा कि यहां सरबजीत और नारायण सिंह को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जाएगी ,जिससे जांच में तेजी आएगी। इन दोनों से यह भी पता चल सकेगा कि इस हत्या में उनके साथ और कौन-कौन शामिल था। दिल्ली का निहंग नारायण सिंह समर्पण करने के लिए सुबह ही सिंघु बॉर्डर से निकल चुका था। नारायण सिंह का कहना था कि संगत ने उसे अमृतसर में सरेंडर करने के लिए कहा था।

मृतक के शरीर पर चोट के 37 निशान

मृतक की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक मृतक के शरीर पर चोट के 37 निशान पाए गए हैं। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक युवक के खिलाफ तेज धार वाले हथियार के साथ ही लाठी-डंडे और अन्य हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया है। युवक की मौत का कारण अत्यधिक रक्तस्राव बताया जा रहा है।

सरबजीत सात दिन की रिमांड पर भेजा

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली

सिंघु बॉर्डर पर हुई युवक की हत्या के मामले में निहंग सिख सरदार सरबजीत सिंह को पुलिस ने सोनीपत के सिविल जज (जूनियर डिविजन) की कोर्ट में पेश किया। हरियाणा पुलिस ने कोर्ट से आरोपी को 14 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने की मांग की। हालांकि, कोर्ट ने पुलिस की ओर मांगी गई 14 दिन की बजाय सात दिन की रिमांड स्वीकृत की। हरियाणा पुलिस ने कोर्ट से ये भी कहा कि हत्या में प्रयुक्त हथियार अभी बरामद किए जाने हैं। पुलिस ने ये भी बताया कि निहंग सरबजीत सिंह ने अपने डिसक्लोजर स्टेटमेंट में चार नाम बताए हैं। इन्हें भी ट्रैस किया जा रहा है।

अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए हरियाणा पुलिस गुरदासपुर और चमकौर जाएगी। क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम ने शनिवार दोपहर में निहंग सरदार सरबजीत सिंह को कोर्ट में पेश किया। हरियाणा पुलिस ने निहंग सरबजीत सिंह की 14 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने उसे सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गौरतलब है कि एक दिन पहले ही सिंघु बॉर्डर पर पंजाब के तरनतारन निवासी युवक की बेरहमी से हत्या कर दिए जाने का मामला सामने आया था।