Tuesday, December 07, 2021 05:09 AM

सातवें दिन भी जमकर की नारेबाजी

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-चंबा हिमाचल पथ परिवहन निगम संयुक्त समन्वय समिति चंबा ने रविवार को लगातार सातवें दिन कार्यशाला परिसर के बाहर मांगों के समर्थन में गेट मीटिंग कर निगम प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान समिति के अध्यक्ष ओम शंकर ने बताया कि सरकार व निगम प्रबंधन के नकारात्मक रूख को देखते हुए रात बारह से अठारह अक्तूबर तक 24 घंटे के लिए निगम कर्मचारी काम छोड़ो आंदोलन पर जा रहे हैं। इस अवधि में कर्मचारियों के ड्यूटी नहीं देंगें। उन्होंने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि बड़े खेद का विषय है कि अभी तक कर्मचारियों को सितंबर माह का वेतन नहीं मिल पाया है। इसके अलावा डीए व आईआर का भुगतान भी लंबे अरसे से लंबित चल रहा है। चालकों व परिचालकों का 34 माह से ओवरटाइम व रात्रि भत्ते की अदायगी देय है।

उन्होंने कहा कि निगम से सेवानिवृत्त कर्मचारियों की ग्रेच्युटी, लीव इन कैशमेंट, जीपीएफ व मेडिकल भत्ते के अलावा विभिन्न एरियर के तौर के करीब 580 करोड़ रुपए की देनदारियों का भुगतान भी लंबित चल रहा है। उन्होंने बताया कि समिति निगम में कार्यरत पीस मील वर्कर्ज को एकमुश्त अनुबंध में लेने की मांग भी कर रही है। ओम शंकर ने कहा कि समिति पिछले डेढ़ माह से निगम में कार्यरत व सेवानिवृत्त कर्मचारियों की मांगों व वित्तीय लाभों की अदायगी को लेकर संघर्षरत है। मगर अभी तक सरकार व निगम प्रबंधन की ओर से कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं हो पाई है। इस कारण अब सीमित ने मांगें मनवाने के लिए आर-पार की लड़ाई लडऩे का मन बनाया है। समिति के पदाधिकारियों के अलावा काफी तादाद में निगम कर्मचारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।