Sunday, January 17, 2021 08:38 AM

Snowfall: सीजन की दूसरी बर्फबारी के बाद किन्नौर में कड़ाके की ठंड, जम गया पानी

रिकांगपिओ — किन्नौर के ऊंचाई वाले इलाकों में इस सर्दी की दूसरी बर्फबारी हो गई है। सोमवार से ही मौसम में आए बदलाव के साथ ही ऊंची आबादी वाले इलाकों व पहाडिय़ों पर बर्फ गिरने का दौर देखा गया। इस दौरान पर्यटन स्थल छितकुल में छह इंच बर्फ दर्ज की गई। इसी तरह रकछम, आसरंग, कुनो-चारंग, नेसंग, ठंगी, रोपा, मीरु, रोघी, कल्पा, मेंबर, यांगपा व काफनू आदि क्षेत्रों में भी बर्फ गिरी। नवंबर में दो बार बर्फबारी गिरने से समूचे जिला में ठंड का प्रकोप काफी बढ़ गया है। किन्नौर में मध्यम व ऊंचाई वाले इलाकों में न्यूनतम तापमान माइनस में दर्ज किया जा रहा है। इन क्षेत्रों में पानी तेजी से जमना शुरू हो गया है।

जलोड़ी पास बर्फबारी के बाद गाडिय़ों के लिए बंद, कुल्लू से कटा आनी की 58 पंचायतों का संपर्क


आनी — आनी बारिश होने से तापमान में भारी गिरावट आ गई है। यहां के प्रमुख दर्रे जलोड़ी जोत सहित अन्य ऊंची पहाडिय़ों पर हल्की बर्फबारी हुई है। आनी उपमण्डल को जिला मुख्यालय कुल्लू से जोडऩे वाले प्रमुख सड़क मार्ग एनएच 305 के बीच स्थित जलोड़ी दर्रे पर सोमवार तक करीब तीन ईंच ताजा हिमपात होने से अब मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए बंद हो गया है। मार्ग बंद होने से आनी वाह्य सिराज क्षेत्र की 58 पंचायतों का जिला मुख्यालय कुल्लू से सीधा संपर्क अस्थाई तौर पर कट गया है। बर्फबारी से घाटी एक बार पुन: शीतलहर की चपेट में आ गया है।ठंड से बचने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में लोग तंदूर यानी बुखारी का सहारा ले रहे हैं। वर्षा व बर्फबारी फसलों की अच्छी पैदावार के लिए काफी लाभप्रद मानी जा रही है, जिससे किसानों व बागबानों के मुरझाए चेहरे भी खिल उठे हैं।

The post Snowfall: सीजन की दूसरी बर्फबारी के बाद किन्नौर में कड़ाके की ठंड, जम गया पानी appeared first on Divya Himachal.